अनूपपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजाति विश्वविद्यालय अमरकंटक का तृतीय दीक्षांत समारोह सोमवार को संपन्न हुआ। दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि शिक्षा मंत्री भारत सरकार डा रमेश पोखरियाल, विशिष्ट अतिथि के रूप में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के चेयरमैन प्रो धीरेन्द्र पाल सिंह, समारोह के अध्यक्ष के रूप में विश्वविद्यालय के कुलाधिपति डा मुकुल शाह एवं कुलपति प्रो श्रीप्रकाश मणि उपस्थित रहे।दीक्षांत समारोह में 3580 विद्यार्थियों का चयन किया गया जो वर्ष 2017 से 2021 तक विभिन्न विभाग में शैक्षणिक उपलब्धि अर्जित करते हुए मेडल अर्जित किए।

हर्षिता और आंचल ने भी गोल्ड मेडल अर्जित किया-आंचल केशरवानी पिता रमेश गुप्ता माता राजरानी गुप्ता निवासी बिजुरी तहसील कोतमा ने बीए ऑनर्स(इतिहास) विभाग में अध्ययनरत रहकर वर्ष 2019 में ग्रेजुएशन कर उच्च अंक के साथ प्रथम स्थान प्राप्त किया जिनका चयन गोल्ड मेडल के लिए हुआ है और तृतीय दीक्षांत समारोह में गोल्ड मेडल से नवाजा गया है।इनके पिता रमेश गुप्ता कोतमा कोर्ट में वकील एवं नोटरी हैं और माता राजरानी गुप्ता गृहणी है।आंचल केशरवानी बी.ए.आनर्स (इतिहास) विभाग से बैचलर की डिग्री में गोल्ड मेडल हासिल किया है। इसी तरह

हर्षिता टेकाम पिता टेकराम टेकाम ग्राम बिजोरी ब्लॉक अमरपुर जिला डिंडोरी वर्तमान में इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्व विद्यालय में जनजातीय अध्ययन विभाग में पीएचडी में अध्ययनरत है। पिता स्कूल में शिक्षक और मां आंगनबाड़ी में है और इनको विश्वविद्यालय गोल्ड मेडल मास्टर ऑफ आर्ट जनजातीय अध्ययन के लिए दिया गया।

विकास चंदेल को समाज कार्य में मिला स्वर्ण पदकः इंदिरा गांधी राष्ट्रिय जनजातीय विश्वविद्यालय अमरकंटक के तृतीय दीक्षांत समारोह में समाज कार्य विभाग में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन हेतु विश्वविद्यालय स्वर्ण पदक से विकास चंदेल को वर्ष 2019 हेतु सम्मानित किया गया।विकास चंदेल डिंडोरी जिला के गांव कूड़ा के निवासी हैं पिता नेम सिंह चंदेल कृषक हैं। प्रारंभिक शिक्षा गांव से प्रारंभ होकर उत्कृष्ट विद्यालय डिंडोरी में हुई, तदोपरांत अमरकंटक विश्वविद्यालय से बी.एस.सी.बी.एड. में स्नातक तथा एमएसडब्ल्यू में स्नातकोत्तर में किया। विकास चंदेल प्रणाम नर्मदा युवा संघ संगठन के अध्यक्ष हैं तथा जिले के पुष्पराजगढ़ विकास खण्ड के सुदूर जनजातीय गांवो में विगत 8 वर्षों से समाज कार्य के क्षेत्र में सक्रिय रूप से कार्य कर रहे हैं । शिक्षा स्वास्थ्य, स्वच्छता, सर्पदंश जागरुकता, रक्तदान शिविर, कैरिअर काऊंसिलिंग आदि पर लगातार कार्य कर रहे हैं। विगत दिनों ही इनका विश्वविद्यालय अमरकंटक में पी.एच.डी. हेतु चयन हुया है।

अलका को पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग में मिला गोल्ड मेडल-जिले के जैतहरी विकासखंड के ग्राम धिरौल निवासी अलका पटेल को पत्रकारिता एवं जनसंचार विभाग में मास्टर ऑफ आर्ट्स इन जर्नलिज्म एंड मास कम्युनिकेशन में बैचलर और मास्टर डिग्री हासिल की जिस पर उनका चयन गोल्ड मेडल के लिए हुआ।अलका के पिता घनश्याम पटेल कालरी कर्मचारी हैं और मां रुकमणी पटेल गृहणी है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags