शहडोल (नईदुनिया प्रतिनिधि)। प्रदेश के खाद्य, नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने अपने बेतुके बयान पर शुक्रवार को माफी मांग ली है। सरकारी लेटरपैड पर उन्होंने लिखा कि कार्यक्रम में जो बातें कही गई हैं, उसके कुछ अंश छिपाकर विघ्न पैदा करने वाले लोगों ने गलत ढंग से उनकी बातों को रखा। उन्होंने कहा है कि यदि उनका पूरा वीडियो जारी किया जाता तो शायद ऐसी स्थिति नहीं बनती।

उन्होंने कहा कि मैंने स्थानीय भाषा में कहा था कि उच्च वर्ग की महिलाओं केघर जाकर उनसे संपर्क कर घरों से बाहर निकालकर अपने साथ सामाजिक कार्यों में जोड़ें, ताकि उनकी शिक्षा व योग्यता का लाभ गरीब वर्ग की महिलाओं को मिल सके। उन्होंने कहा कि मेरा संबोधन पवित्र उद्देश्य के लिए था, लेकिन दुर्भाग्य से विरोधियों ने कुछ अंश निकालकर प्रदर्शित किया, ताकि लोगों की भावनाओं को भड़काया जा सके। उन्होंने कहा कि अगर मेरे भाषण से किसी की भावनाएं आहत हुई हों, तो मुझे खेद व्यक्त करने या क्षमा मांगने से कोई गुरेज नहीं है।

यह था बयान : अनूपपुर विधायक व मंत्री बिसाहू लाल सिंह ने बुधवार को ग्राम फुनगा में महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा था कि महिला और पुरुष को समान रूप से काम करना चाहिए। खासकर सवर्ण समाज के लोग अपने घर की औरतों को कोठरी में बंद कर रखते हैं, काम करने निकलने नहीं देते। उन्होंने कहा था कि समाज में समानता लाना है तो उधा जाति की महिलाओं को पकड़ कर बाहर निकालो। गांव की महिलाएं धान काटती हैं, गोबर लीपती हैं और अन्य काम करती हैं। यह काम बड़े घर की महिलाएं भी करें तभी महिलाओं में समानता आएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local