अनूपपुर। 2 माह तक समर्थन मूल्य पर हुई धान की खरीदी शुक्रवार को बंद हो गई। जिले के कुल 13498 पंजीकृत किसानों के द्वारा 7 लाख 10 हजार 221 क्विंटल धान शासन को विक्रय की गई। विक्रेता किसानों से शासन ने एक अरब 32 करोड़ 60 लाख 94 हजार 144 रुपए में यह धान खरीदी है। जिला प्रशासन के समक्ष अब धान भंडारण और भुगतान की चुनौती है। जगह की कमी की वजह से करीब 1 लाख 40 हजार क्विंटल धान शहडोल जिले में भेजी जा रही है। ऋण वसूली के पश्चात 45 करोड़ 7 लाख 28 हजार 385 करोड़ का भुगतान नहीं हो सका है।

29 केंद्रों में खरीदी गई थी धानः जिले में 16 नवंबर से धान की खरीदी 29 केंद्रों में शुरू हो गई थी जो कि 16 जनवरी तक चली। जिले में 16011 किसानों ने धान बेचने के लिए पंजीयन कराया था जिसमें से खरीदी प्रक्रिया उपरांत 13498 किसानों ने शासन को समर्थन मूल्य पर अपनी उपज बेची जबकि 2513 किसान उपज बेचने नहीं आए जिनकी जांच अब विभाग द्वारा की जाएगी।

अब तक 82 प्रतिशत भंडारण का कार्यः जिले में 9 भंडारण केंद्र है जो कि खरीदी केंद्रों से लाए गए धान से पूरी तरह भर चुके हैं। 1लाख 80 हजार 859 क्विंटल धान का भंडारण किया जाना शेष रह गया है। ग्राम पयारी में वेयरहाउस द्वारा हाल ही में निर्माण कराए गए कैप स्थल पर करीब 10 हजार मैट्रिक टन रखवाया जा रहा है इसके बाद भी जगह की समस्या निर्मित होगी। वेयरहाउस विभाग द्वारा बताया गया कि 1लाख 40 हजार क्विंटल धान शहडोल जिले के बुढार विकासखंड अंतर्गत लालपुर हवाई अड्डे में भंडारण के लिए भेजा जा रहा है। बताया गया इस वर्ष 20809 क्विंटल धान किसानों की रिजेक्ट की गई है। जिले में 82 प्रतिशत भंडारण का कार्य कर लिया गया है।

इन समितियों में इतनी खरीदी गई धानः सेवा सहकारी समिति राजेंद्र ग्राम में 630 किसानों से 32 320 क्विंटल, बेनीबारी में 316 किसानों से 15331, समिति भेजरी में 662 किसानों द्वारा 33 977, समिति भेजरी क्रमांक 2 में 447 किसानों से 27106, आदिम जाति सेवा सहकारी समिति दमेहड़ी 381 किसानों से 16751, समिति कोठी में 385 किसानों से 20 467, समिति बिजुरी में 436 किसानों से 23 289, भलमुड़ी में 349 किसानों से 15941, भालूमाड़ा समिति में 210 किसानों से 12065, समिति प्यारी क्रमांक एक में 485 किसानों ने 28280 क्विंटल, मझगमा समिति में 581 किसानों से 27418, छिल्पा समिति में 581 किसानों से 39403, जैतहरी समिति में 412 किसानों से 19426, अनूपपुर सेवा सहकारी समिति क्रमांक एक में 520 किसानों द्वारा 26277, अनूपपुर मंडी सेड में 606 किसानों द्वारा 26908, निगवानी वेयरहाउस में 548 किसानों द्वारा 29359, कोतमा समिति में 403 किसानों द्वारा 27456, पयारी समिति में 260 किसानों द्वारा 12744, कोतमा बतूल वेयरहाउस में 282 किसानों द्वारा 18217, लीला टोला में 338 किसानों द्वारा 15 804, आयशा राइस मिल में 804 किसानों द्वारा 3434 क्विंटल धान खरीदा गया।

फोटो लगाना है 18 एएनयू 40 पयारी कैप में भंडारण के लिए अनूपपुर समिति से धान का उठाव होता हुआ।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags