अशोकनगर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष अमरजीत छाबड़ा अपनी जमीन पर अवैध कब्जे के आरोप लगाते हुए शुक्रवार को गांधी पार्क पर धरने पर बैठ गए। अमरजीत छाबड़ा धरने पर अपने स्वजनों सहित परिवार के छोटे-छोटे बच्चों के साथ बैठे। उनका आरोप है कि कुछ लोगों ने राजस्व अधिकारियों के सहयोग से शहर के नवीन विदिशा बायपास रोड पर स्थित उनकी निजी जमीन के एक हिस्से पर गुरूवार को अवैध कब्जा कर लिया है। उल्लेखनीय है कि अमरजीत छाबड़ा लंबे समय से भाजपा में सक्रिय रहे हैं। वर्तमान में भी उनके पास प्रदेश कार्यसमिति सदस्य का दायित्व है। उन्होंने राजस्व अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाते हुए एक पत्र क्षेत्रीय सांसद को लिखा है, जिसमें आरोप लगाए हैं कि उनके निजी स्वामित्व व आधिपत्य की कृषि भूमि नवीन विदिशा बायपास रोड पर स्थित है। उस भूमि के एक हिस्से पर गत 20 जनवरी को मुखविंदर सिंह सिक्ख उर्फ मुख्खी, गुरूनेव सिंह, गुरप्यार सिंह, समता जैन, भगवतप्रसाद पाराशर, महावीर सिंह सिक्ख, सोनू सरदार आदि ने अन्य आठ-दस लोगों के साथ मिलकर मय हथियारों के राजस्व कर्मचारियों को साथ लेकर अवैध रूप से कब्जा कर लिया है। उन्होंने आरोप लगाए कि उक्त सभी लोगों ने जमीन में खड़ी गेहूं की फसल को ट्रैक्टर, प्लाउ व जेसीबी मशीन की मदद से नष्ट कर उसकी नापतौल की और उस पर कब्जा जमा लिया। उन्होंने पत्र के माध्यम से सांसद से मामले की न्यायोचित जांच कराए जाने की मांग की है। वहीं भाजपा के एक वरिष्ठ नेता के इसप्रकार प्रशासन पर आरोप लगाते हुए धरने पर बैठने से लोगों में चर्चा गरमा गई है कि यदि सत्ताधारी पार्टी के वरिष्ठ नेता सुरक्षित नहीं हैं तो आमजन की स्थिति का अंदाजा स्वभाविक लगाया जा सकता है। हालांकि बाद में दूसरे पक्ष के लोगों ने भी गांधी पार्क पर पहुंचकर धरना दिया। इस विषय में एसडीएम नेहा जैन से बात करने पर उन्होंने कहा कि छाबड़ा परिवार द्वारा लगाए गए आरोपों के विषय में जांच के बाद ही कुछ भी स्पष्ट रूप से कहा जा सकता है। हमारे द्वारा कल ही एक अलग टीम के द्वारा मौके पर स्थल निरीक्षण कराया जाएगा, जिससे वास्तविक स्थिति की जानकारी लग सके।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local