अशोकनगर(नवदुनिया प्रतिनिधि)। जिला मुख्यालय पर रविवार को राष्ट्रीय शिक्षा धर्म ट्रस्ट व बौद्ध सामाजिक संगठनों के तत्वावधान में बुद्ध जयंती के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय बौद्ध महोत्सव व तूमैन धम्मयात्रा का आयोजन किया गया। बौद्ध भिक्खु डा. आनंद रक्खित ने बताया कि बुद्ध जयंती के उपलक्ष्‌य में 22 मई को परिवर्तन मिशन स्कूल में राष्ट्रीय बौद्ध महोत्सव मनाया गया। इसके बाद बौद्ध भिक्खुओं व छात्र-छात्राओं ने शहर के प्रमुख मार्गों से होकर एक रैली भी निकाली। उन्होंने बताया कि 23 मई की सुबह स्थानीय गांधी पार्क से तूमैन धम्मयात्रा निकाली जाएगी। इस यात्रा का समापन तूमैन स्थित बुद्ध प्रतिमा पर होगा। जहां संघ दान कार्यक्रम भी रखा गया है। डा. आनंद रक्खित ने बताया कि राष्ट्रीय बौद्ध महोत्सव मनाने के पीछे हमारा उद्देश्य समाज को बुद्ध से परिचित कराना है। भारत की धरती वह पावन धरा है, जिस पर एक बुद्ध नहीं बल्कि अट्ठाइस सम्यक सम्बुद्धों ने जन्म लिया है। बुद्ध की धरती होने के कारण आज भी भारत बुद्ध देशों का सिरमौर है। दुनिया को सुख शान्ति का संदेश देने वाले गौतम बुद्ध की पावन धरा पर जिन लोगों ने बुद्ध के बताए मार्ग को छोड़ दिया, वे न सिर्फ स्वयं दुखी हैं बल्कि वे दूसरों को भी दुखी बनाने का कार्य कर रहे हैं। ऐसे समय में लोगों को धर्म की बात सुनना आसान नहीं होता, यदि धर्म सुन भी लिया तो समझना आसान नहीं होता और धर्म समझ भी लिया तो उस पर चलना तो बहुत ही कठिन काम होता है। हम सभी बुद्ध के बताए रास्ते पर चलकर स्वयं सुखी हों और दूसरों को भी सुखी करें। वहीं उन्होंने तूमैन धम्मयात्रा के बारे में बताया कि तूमैन में भगवान बुद्ध की प्रतिमा को स्थानीय ग्रामवासी बैठा देव के नाम से जानते हैं। इस यात्रा के माध्यम से हम बुद्ध की उस प्रतिमा के बारे में लोगों को बताना चाहते हैं। आगे प्रतिवर्ष हमारे द्वारा यह धम्मयात्रा निकाली जाएगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close