अशोकनगर(नवदुनिया प्रतिनिधि)। भगवान श्रीकृष्ण का जन्माष्टमी महापर्व जिले में भक्तिभाव से मनाया गया। इस मौके पर घर-घर में भगवान श्रीकृष्ण की आराधना की गई। मंदिरों पर विशेष आयोजन हुए। श्रीकृष्ण संस्थान में दिन भर जन्माष्टमी महापर्व पर धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन चलता रहा। वहीं शहर के मंदिरों में विशेष साज सज्जा के साथ भक्ति संगीत का कार्यक्रम देर शाम तक चला। रात 12 बजे पूरा शहर शंख और झालरों की आवाज से गूंज उठा। इस दौरान हाथी घोड़ा पालकी जय कन्हैया लाल की का जयघोष मंदिरों में होता रहा। देर रात श्रीकृष्ण भगवान के जन्म पर शहर के श्रीकृष्ण संस्थान में आकर्षक आतिशबाजी की गई। शहर में इस बार श्रीकृष्ण जन्माष्टमी महापर्व के मौके पर शोभायात्रा न निकालते हुए श्री राज्य यादव महासभा द्वारा श्रीकृष्ण संस्थान पर विभिन्ना कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। सुबह 9 बजे महासभा के सदस्य जिला जेल पहुंचे जहां पर ठाकुर जी का जन्मोत्सव मनाते हुए भजन पूजन किया गया। इसके बाद जेल में उपस्थित कैदियों को प्रसाद वितरित किया गया। जेल से वापस लौटने पर श्री पंचमुखी हनुमान मंदिर पर श्रद्धालु पहुंचे। जहां से पूजन पाठ के बाद विमान को श्रीकृष्ण संस्थान कार्यक्रम स्थल पर लाया गया। विमान के पहुंचने पर आरती का आयोजन किया गया। इसके बाद महाप्रसादी में खीर वितरण का कार्यक्रम पूरे दिन चलता रहा। इस दौरान दोपहर को स्थानीय कलाकार गोलू ओझा एण्ड कंपनी द्वारा आकर्षक भजनों की प्रस्तुतियां दी गईं। वहीं शाम 7 बजे के बाद उप्र के प्रसिद्ध भजन गायक रामकिशोर मुखिया ने एक से बढ़कर एक आकर्षक भजनों की प्रस्तुतियां दीं। देर रात तक भजन प्रस्तुतियों के बाद 12 बजते ही महाआरती का आयोजन किया गया। इसके बाद संस्थान में आकर्षक आतिशबाजी करते हुए भगवान श्रीकृष्ण के जन्मोत्सव पर एक दूसरे को बधाईयां दीं। शहर में कई स्थानों पर हुई मटकी फोड़ प्रतियोगिता- शहर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर कई स्थानों पर मटकी फोड़ प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। इस दौरान कहीं पर मटकी को ऊंचाई पर टांगा गया तो अधिकांश स्थानों पर जमीन पर रखकर मटकी फोड़ी गईं। कालोनी, गली , मोहल्लों में बच्चों में मटकी फोड़ प्रतियोगिता का लेकर खासा उत्साह देखा गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close