अशोकनगर(नवदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में नगर सरकार बनने के पहले ही फिटकरी और ब्लिचिंग पाउडर खत्म हो गया। इसके चलते करीब तीन दिनों तक शहर में मटमैले पानी की सप्लाई हो रही है। लोगों के घरों में मटमैला पानी पहुंचा तो मजबूरी में उनको पेयजल के लिए दूसरे इंतजाम करना पड़े। वर्षा ऋतु में स्वच्छ और साफ पानी लोगों को पिलाने की जिम्मेदारी नगर पालिका की रहती है। ऐसे में घरों में पहुंच रहे मटमैले पानी से लोग अपने स्वास्थ्य को लेकर चिंतित नजर आ रहे हैं। जल सप्लाई में नपा का प्रबंधन गड़बड़ा जाने की वजह से लोगों के घरों में गंदा पानी पहुंच रहा है। करीब तीन दिन पहले गठित हुई नई परिषद भले ही इस बात से अनजान है लेकिन जब इस मामले की पड़ताल की तो शहर में जल सप्लाई व्यवस्था संभाल रहे लोगों का प्रबंधन फैल नजर आया। बता दें कि अमाही से पानी आने के बाद सीधा फिल्टर प्लांट में पहुंचता है जहां पानी का ट्रीटमेंट कर फिल्टर करने के बाद सप्लाई की जाती है। ट्रीटमेंट के तौर पर पानी को साफ करने के लिए फिल्टर और ब्लिचिंग पाउडर का इस्तेमाल होता है। लेकिन जानकारी के मुताबिक पिछले चार दिनों से नगर पालिका के पास ब्लिचिंग पाउडर और फिटकरी का स्टाक खत्म हो गया था। इस वजह से पानी फिल्टर करने की प्रक्रिया में समस्या आने के कारण घरों में मटमैला पानी पहुंच रहा था।

पुराने फिल्टर प्लांट को चालू कराना जरूरी

शहर में एक पुराना फिल्टर प्लांट आरोन रोड पर एक्सीलेंसी स्कूल के पास है। जहां से पूर्व में शहर के लिए पानी की सप्लाई की जाती थी। लेकिन जब से गौशाला की टोरिया पर फिल्टर प्लांट बना तो सप्लाई व्यवस्था पूरी तरह से नए फिल्टर प्लांट पर निर्भर हो गई। पुराने फिल्टर प्लांट को चालू करने के लिए कुछ बजट की जरूरत थी जो पूर्व में विभागीय स्तर पर प्रपोजल बनाकर मांगा भी गया था। इसके बाद भी आज उक्त फिल्टर प्लांट चालू नहीं हो सका है। अगर नगर पालिका दूसरे प्लांट को चालू कर लेती है तो शहर में हर दिन पानी की सप्लाई होना संभव है।

अभी एक दिन छोड़कर दिए जाते हैं नल

शहर को पानी पिलाने वाले अमाही में करीब दो साल के पानी का स्टाक होने के बाद भी शहर में एक दिन छोड़कर जल सप्लाई की जाती है। लंबे समय से शहरवासियों द्वारा हर दिन नलों से पानी सप्लाई की मांग की जाती रही है। लेकिन पुराने फिल्टर प्लांट तक जो लाइन बिछी है वह कई स्थानों पर क्षतिग्रस्त है। इसलिए पर्याप्त पानी होने के बाद भी सप्लाई नहीं हो पा रही है।

शहर में नए फिल्टर प्लांट की क्षमता से अधिक पानी की सप्लाई होती है। इसलिए प्रबंधन में कुछ दिक्कत आ रही है। शीघ्र ही पुराने फिल्टर प्लांट को भी चालू कराने की कार्रवाई शुरू की जाएगी। वहीं पानी को साफ करने के लिए चूना भी मिलवाया जाएगा। फिटकरी और ब्लिचिंग पाउडर आ चुका है। कल से साफ पानी नलों में आएगा।

-नीरज मानोरिया नगर पालिका अध्यक्ष।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close