अशोकनगर ( नवदुनिया प्रतिनिधि )। सड़क पर घायल पड़े एक युवक की जान बचाने के लिए अशोकनगर कलेक्टर आर उमा महेश्वरी ने रविवार रात को दरियादिली दिखाई। कलेक्टर ने अपने शासकीय वाहन से घायल युवक को इलाज के लिए बिना देर किए जिला अस्पताल भेज दिया और खुद सड़क पर खड़ीं रहीं। कुछ देर बाद कलेक्टर को लेने के लिए दूसरा वाहन आया, तब वे इससे अपने घर गईं।

यह वाक्या शहर के सेन चौराहा का है। यहां एक बाइक में पीछे से आकर दूसरी बाइक भिड़ गई। इससे बाइक को चला रहा युवक गंभीर रूप से घायल हो गया था। वह बेहोश पड़ा था और शरीर से खून बह रहा था। लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को डायल-100 पर कॉल करके दे दी, मगर पुलिस की गाड़ी के आने से पहले ही कलेक्टर आर उमा महेश्वरी यहां आ गईं। कलेक्टर मुंगावली से लौटकर अपने घर जा रहीं थीं। उन्होंने भीड़ देखकर गाड़ी रुकवाई और पूरे मामले की जानकारी ली। कलेक्टर ने आसपास खड़ी गाड़ियों से घायल युवक को तत्काल अस्पताल भेजने के लिए कहा, मगर किसी भी वाहन का चालक सामने नहीं आया, तो कलेक्टर ने बिना देर किए अपने ही शासकीय वाहन से युवक को इलाज के लिए जिला अस्पताल भेज दिया। युवक बेहोशी की अवस्था में था। इसलिए उसका नाम और पता स्पष्ट नहीं हो सका।

इनका कहना

- युवक काे खून अधिक निकल रहा था, आसपास खड़ी गाड़ियों का कोई चालक मौजूद नहीं था। इसलिए मैंने बिना देर किए उसे अपने वाहन से जिला अस्पताल भिजवाया।

आर उमा महेश्वरी, कलेक्टर

Posted By: Lalit Katariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local