अशोकनगर। नवदुनिया न्यूज

स्थानीय सांसद डॉ. केपी यादव ने चौधरी लख्मीचंद श्रीमतीबाई परमार्थिक ट्रस्ट द्वारा आयोजित शिविर को संबोधित करते हुए कहा कि मानव सेवा के लिए इस तरह के शिविर आयोजित करना एक श्रेष्ठ कार्य है। इस तरह के शिविरों के आयोजनों से गरीब वर्ग के लोगों को मदद मिलती है और उन्हें सभी तरह की चिकित्सा मिलने के साथ-साथ उन्हें परमार्श भी मिलता है। इस तरह के शिविर आयोजित होते रहना चाहिए।

उन्होंने शिविर के आयोजन पर प्रशन्नता जताई और कहाकि ट्रस्ट के द्वारा हर वर्ष इस तरह का शिविर आयोजित किया जाना निरंतर परम्परा का एक हिस्सा है। इस मौके पर ट्रस्ट की ओर से महेन्द्र चौधरी ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर ट्रस्ट के मंत्री रमेश चौधरी, कोषाध्यक्ष विनोद चौधरी, राकेश चौधरी आदि उपस्थित थे। इस दौरान स्थानीय जैन चेरीटेबल पॉली क्लीनिक नर्सिंग होम पर आयोजित इस शिविर में भोपाल से आए 5 डाक्टरों के दल ने भाग लिया जिनमें डा सुधीर लोकवानी, डॉ. आनंद यादव, डा जीसी गौतम और डॉ. वीरेंद्र चौधरी शामिल थे। इस दौरान डॉ. लोकवानी ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। इस दौरान ट्रस्ट के सचिव रमेश चौधरी ने बताया कि शिविर में 232 मरीजों का परीक्षण किया गया और विभिन्न रोगों, गुर्दा, पथरी, पेट, आंत, लीवर, हदयरोग आदि से संबंधित रोगों का परामर्श प्रदान किया गया। यह शिविर दोपहर 12 बजे से शाम 5 बजे तक आयोजित किया गया था।

...................................

फोटो186ए- शिविर में भाग लेने वाले रोगियों का परीक्षण करते हुए चिकित्सक।

फोटो186बी- सांसद डॉ. केपी यादव शिविर का शुभारंभ करते हुए।

.....................................

खबर नं.13

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करने पर मामला दर्ज

अशोकनगर। नवदुनिया न्यूज

पिछले दिनों चंदेरी में हुई घटना के बाद सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक मैसेज भेजने पर गुना निवासी अंसार पिता स्व. अनवर मिर्जा पर आईटी एक्ट का मामला दर्ज किया गया है। अंसार मिर्जा ने विवादित टिप्पियां उनकी फेसबुक बॉल पर पोस्ट की थी जिसे अशोकनगर पुलिस द्वारा संज्ञान में लिया गया था जिसके बाद यह मामला सिटी कोतवाली में दर्ज किया गया है।

सोशल मीडिया पर इस तरह की आपत्तिजनक पोस्ट किए जाने के मामले में एसपी पंकज कुमावत ने कहा कि जिला पुलिस के अशोकनगर आईटी सेल द्वारा सोशल मीडिया की मॉनीटरिंग लगातार 24 घंटे की जा रही है। इस दौरान देखने में आ रहा है कि ऐसी अपराधिक घटनाएं जो रंजिशन एवं अपराधिक व्यक्तियों के द्वारा की जा रही है उन्हें लेकर फेसबुक, ट्वीटर, व्हाटसअप आदि पर अर्नगल एवं भ्रामक पोस्ट शेयर की जा रही है जिससे जिले की कानून व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने की संभावना बनी रहती है। पिछले दिनों चंदेरी थाने के अंतर्गत हुई घटना को लेकर भी सोशल मीडिया पर कई भ्रामक पोस्ट किए जा रहे हैं। जबकि यह घटना आपसी रंजिश का परिणाम है जिसे लेकर उन्होंने जन सामान्य से अपील की है कि अनावश्यक भ्रामक जानकारी सोशल मीडिया पर न डालें। आपत्तिजनक पोस्ट अथवा टिप्पणी की सूचना नजदीकी पुलिस थाने पर दें। सभी ग्रुप एडमिन अपने ग्रुप में जुड़े सदस्यों को समझाइश दें कि वह इस तरह की कोई पोस्ट शेयर न करें। उन्होंने कहा कि पुलिस द्वारा लगातार सोशल मीडिया की सतत मॉनीटरिंग की जा रही है। इस तरह की पोस्ट डाले जाने पर आईटी एक्ट के अंतर्गत मामले दर्ज किए जाएंगे।