एक आरोपित भाग निकला, आरोपितों में पुत्र भी शामिल, पिता ने पकड़ने के दौरान कुल्हाड़ी घुमाई और भाग गया

अशोकनगर। जिले के पिपरई थाना क्षेत्र में हुई तीन चोरियों का पर्दाफाश होने के साथ चंदेरी और देहात थाना क्षेत्र में भी एक-एक चोरी के आरोपित पुलिस के हाथ लगे हैं। तीन चोरियां करना इन आरोपितों ने स्वीकार कर ली हैं, दो चोरियों के माल जब्ती के प्रयास जारी हैं। इन आरोपितों के पास से पुलिस ने चुराए गए 4 मोबाइल और ड़ेढ लाख कीमत का सामान जब्त किया है। आरोपितों में पिता भागने में सफल हो गया जबकि पुत्र को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, पिता-पुत्र दोनों पर कई अपराधिक मामले दर्ज हैं।

पुलिस अधीक्षक रघुवंश भदौरिया और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हेमलता कुरील ने बताया कि पिपरई थाना क्षेत्र में कई चोरी की वारदातें हुई थीं, लेकिन यह आरोपित लगातार पुलिस को चकमा देते आ रहे थे। इसी बीच पुलिस को अशोकनगर जिले की साइबर शाखा के माध्यम से गोलू यादव के चोरियों में शामिल होने की जानकारी मिली थी। इस जानकारी के बाद पुलिस ने जब पूछताछ की और आरोपितों के संबंध में जानकारी जुटाई तब मामला सामने आया कि उसके साथ अन्य तीन आरोपित भी शामिल हैं। जिनमें समंदर सिंह यादव एवं अजय यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है जबकि सलमाई चक्क निवासी गोलू यादव का पिता लाखन यादव पुलिस को चकमा देकर भाग गया है, जब पुलिस गिरफ्तार करने गई तब उसने चारों ओर हवा में कुल्हाड़ी घुमाई और स्वयं की पत्नी पर हमला करने का प्रयास किया। जिसके बाद वह फरार हो गया।

एसपी ने बताया कि जिन मामलों में पुलिस ने इन आरोपितों को गिरफ्तार किया है उसमें 24 अगस्त 2020 को सरबजीत निवासी पिपरई एवं सगीर खां के यहां से चोरी हुई थी। इसी प्रकार 31 अगस्त 2020 त्रिलोक सिंह के यहां से सामान चुराया गया था, जबकि 17 मई 2020 को शाकिर खान निवासी पिपरई के यहां चोरी की वारदात को अंजाम दिया गया था। इसके अलावा चंदेरी और देहात थाना क्षेत्र में 2 चोरी की वारदातें करना स्वीकारा है। इन दो वारदातों में माल जब्ती के प्रयास किए जा रहे हैं। तीन वारदातों में पुलिस ने आरोपितों के पास से 4 मोबाइल और सोने-चांदी के डेढ़ लाख रुपये कीमत के जेवर जब्त किए है। गोलू यादव पर जीआरपी थाना अशोकनगर में ट्रेनों में चोरी करने के 4 मामले दर्ज हैं, जबकि उसके पिता लाखन यादव पर विभिन्ना थानों में 5 मामले दर्ज हैं। चोरी की इन तीनों घटनाओं में गोलू यादव शामिल है। इन आरोपितों को गिरफतार करने में उपपुलिस अधीक्षक पिपरई सचिन परते, उपनिरीक्षक रोशन सिंह यादव, सहायक उपनिरीक्षक जयप्रकाश, देहात थाना प्रभारी प्रदीप सोनी, सायबर सेल के उपनिरीक्षक संजय गुप्ता के अलावा उपनिरीक्षक रामसिंह, प्रधान आरक्षक अनिल त्रिपाठी, शिवराज तथा आरक्षकों में शिवम ओझा, शिवसिंह यादव, मनोज कुमार आदि शामिल हैं। सायबर सेल में प्रधान आरक्षक मंजीत त्रिवेदी, विनोद तिवारी, आरक्षक दीपक वैश्य, प्रशांत सिंह भदौरिया शामिल है। एसपी द्वारा टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है।

फोटो164- चोरी की वारदातों में पकड़े गए आरोपितों एवं जब्त सामान की जानकारी देते हुए एसपी रघुवंश भदौरिया ।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020