- कंट्रोल रूम में आयोजित की गई पुलिस अधिकारियों की कार्यशाला

अशोकनगर (नवदुनिया प्रतिनिधि)।

सड़क हादसों के बाद अब पुलिस के विवेचना अधिकारी को मौके से ही उसकी जानकारी एप पर दर्ज करनी होगी। इससे हादसों में कमी लाने के लिए कहीं से भी एक क्लिक पर समीक्षा की जा सकेगी। इसी को लेकर गुरूवार को पुलिस कंट्रोल रूम में पुलिस अधिकारियों की कार्यशाला पुलिस अधीक्षक रघुवंश सिंह भदौरिया के मुख्य आतिथ्य में आयोजित की गई। कार्यशाला में एडिशनल एसपी प्रदीप पटेल, डीआइओ एनआईसी एसके जैन सहित पुलिस अधिकारी उपस्थित थे।

कार्यशाला में रोलआउट मैनेजर पंकज तिवारी ने अधिकारी एवं कर्मचारियों को इंटीग्रेडेट रोड एक्सीडेंट डाटाबेस प्रोजेक्ट आईरेड एप(ैइछघ) की ट्रेनिंग दी। इस एप में जिले में कहीं भी कोई सड़क दुर्घटना होने पर उसकी संपूर्ण जानकारी जैसे स्थान का नाम, दुर्घटना की संभावित वजह आदि तुरंत फीड की जायेगी। इससे भविष्य में किन स्थानों पर एवं किन कारणों से दुर्घटनायें बार-बार हो रही हैं, ताकि आगे होने वाली दुर्घटनाओं को रोका जा सके। दुर्घटना स्थान पर पुलिस जांच अधिकारी मोबाइल से फोटो एवं वीडियो अपलोड कर सकेंगें। जांच अधिकारी द्वारा एप पर वाहन का नंबर एवं चालक का ड्राइविंग लाइसेंस नंबर डालने ,तमाम संबंधित जानकारी मिल जायेगी। इसी एप में एक फॉर्मेट के जरिए पुलिस जांच अधिकारी को हादसे से जुड़ी जानकारी भरनी होगी। इसमें हादसों की वजह मृतक व घायलों का नाम एवं पता और घटना स्थल का तमाम विवरण देना होगा। इस के जरिए एक क्लिक पर कहीं भी हुये हादसे की समीक्षा की जा सकेगी। सड़क हादसे की समीक्षा के लिए एप में कई विकल्प दिये गये हैं। एप में देखा जाएगा की हादसा ओवरटेकिंग की वजह से हुआ या फिर चालक नशे में था इतना ही नहीं वाहन की गति अधिक या फिर धुंध या रोशनी कम होने की वजह से हादसा हुआ। इसके अलावा अन्य कई विकल्प दिये गये है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags