अशोकनगर । चुनावी सभाओं को लेकर हाईकोर्ट की ग्वालियर खंडपीठ द्वारा दिए गए आदेश के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को अशोकनगर के शाढ़ौरा में सभा करने गुरुवार सुबह 10:30 बजे पहुँचना था, मगर निर्वाचन आयोग से दोपहर डेढ़ बजे तक भी अनुमति नहीं मिल पायी। इस कारण यह सभा निरस्त हो गयी। भाजपा प्रत्याशी ने मोबाइल से ही मुख्यमंत्री का संदेश सुनाया। इसमें उन्होंने जनता से माफ़ी माँगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज मेरी अशोकनगर के शाढ़ौरा और भांडेर के बराच मेंसभाएं थीं, मैं दोनों जगह के भाइयों-बहनों से क्षमाप्रार्थी हूं। हमने दोनों जगह की सभाएं निरस्त की हैं क्योंकि हाईकोर्ट की ग्वालियर बेंच ने सभाएं न करने का फैसला दिया है, वर्चुअल रैली करने का या फिर चुनाव आयोग से अनुमति लेकर ही सभाएं कर सकते हैं। हम माननीय न्यायालय का सम्मान करते हैं, उनके फैसले का सम्मान करते हैं, लेकिन इन फैसले के सम्बंध में सर्वोच्च न्यायालय जा रहे हैं, क्योंकि एक देश में दो विधान जैसी स्थिति हो गई है।

मध्यप्रदेश के एक हिस्से में रैली व सभा हो सकती है, दूसरे हिस्से में नहीं हो सकती। बिहार में सभाएं हों रही हैं, रैलियां हो रही हैं। लेकिन मध्यप्रदेश के एक हिस्से में सभाएं नहीं हो सकती। इस फैसले के संबंध में हम न्याय की प्राप्ति के लिए सर्वोच्च न्यायालय जा रहे हैं, हमें विश्वास है कि न्याय मिलेगा, लेकिन आज दोनों स्थानों के भाई-बहनों से क्षमाप्रार्थी हूं, जल्दी आऊंगा और सभा को संबोधित करूँगा।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस