अशोक नगर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। शाढ़ौरा थाना क्षेत्र के करख्या गांव में रहने वाले एक किसान ने अपने खेत पर लगे पेड़ से लटककर आत्महत्या कर ली। घटना बुधवार शाम की है। रात में मृतक के स्वजन को इसकी जानकारी लगी, जिसके बाद गुरुवार को सुबह किसान की अंत्येष्टि की गई। स्वजन और किसान नेताओं का दावा है कि अत्यधिक बारिश के कारण फसल खराब होने से किसान दुखी था। उसे अपना कर्जा चुकाने की भी चिंता थी। हालांकि कलेक्टर का कहना है कि पति-पत्नी में झगड़े की वजह से उसने यह कदम उठाया। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

जानकारी के अनुसार मृतक का नाम महेंद्र सिंह पुत्र लल्लीराम रघुवंशी उम्र 40 वर्ष है। यह करख्या गांव का निवासी था। बुधवार को दोपहर में करीब 3:00 बजे महेंद्र सिंह घर खेत के लिए चला गया। इसके बाद शाम तक लौटकर नहीं आया तो स्वजन को चिंता हुई। रात में घर वाले महेंद्र को ढूंढते हुए खेत पर पहुंचे तो देखा कि यहां लगे आम के पेड़ पर इनका शव लटक रहा है। इसके बाद मामले की जानकारी पुलिस को दी गई।

मृतक के चचेरे भाई भास्कर सिंह रघुवंशी ने बताया कि महेंद्र के पास 30 बीघा खेती थी, जिसमें उसने 25 बीघा में सोयाबीन और 5 बीघा में उड़द बोयी थी, मगर अत्यधिक बारिश की वजह से दोनों ही फसल को नुकसान हुआ है। महेंद्र पर ट्रैक्टर का लोन, बिजली कंपनी का बकाया समेत 10 लाख रुपए के करीब का कर्जा था। उसे चिंता थी कि फसल खराब होने से अब वह कर्जा कैसे चुकाएंगे? भारतीय किसान संघ के प्रदेश मंत्री जगराम सिंह यादव ने कहा कि महेंद्र की फसल पूरी तरह से बर्बाद हो गई। पिछले साल भी खेती में नुकसान हुआ था। इस साल सोयाबीन में कुछ फूल आए भी, पर उसमें इल्ली लगने से वह पूरी तरह चौपट हो गई। इसी से दुखी होकर उसने यह आत्मघाती कदम उठाया है।

किसान की मौत के बाद रातभर हमारी राजस्व विभाग की टीम मौके पर रही है। हमने जांच कराई, जिसमें पता चला कि किसान का पत्नी से झगड़ा हुआ था, जिस कारण उन्होंने आत्महत्या की। मृतक के परिवार को 10 हजार रुपये आर्थिक सहायता दी गई है। शासन की योजनाओं का लाभ पीड़ित परिवार को दिलाया जाएगा।

-आर उमा महेश्वरी, कलेक्टर

Posted By: Ravindra Soni

NaiDunia Local
NaiDunia Local