पिपरई (नवदुनिया न्यूज)। कस्बे के पठार मोहल्ले में रहने वाले एक परिवार में महिला समेत तीन दिव्यांग हैं, फिर भी इनके घर में शौचालय नहीं है। दिव्यांग परिवार का शौचालय स्वीकृत हो गया था, पर राशि पूरी नहीं भेजी गई। आधी राशि ही मिली थी, जिससे इन्होंने गड्ढे का निर्माण करा लिया। अब दूसरी किश्त के लिए कई माह से यह लोग अफसरों के यहां चक्कर काट रहे हैं, पर इनकी सुनवाई नहीं की जा रही। पठार मोहल्ला निवासी सोनू धानुक, इनकी पत्नी अनीता धानुक और छोटा भाई कल्लू धानक तीनों ही पैरों से दिव्यांग हैं। इन्हें मजदूरी नहीं मिलती, क्योंकि दिव्यांगता के कारण यह काम नहीं कर पाते। पिपरई नगर परिषद से पहले ग्राम पंचायत थी। कुछ माह पूर्व ही इसे नगर परिषद का दर्जा मिला है। ग्राम पंचायत के समय ही इनके घर का शौचालय स्वीकृत हो गया था। लेकिन पूरी राशि नहीं मिल पाई। दो बार में 12 हजार रुपए हितग्राही को शौचालय निर्माण के दिए जाते हैं। सोनू धानुक को ग्राम पंचायत ने छह हजार रुपए दिए थे, जिसमें इन्होंने अपने शौचालय के लिए गड्ढे का निर्माण करा लिया। अब इन्हें बाकी निर्माण कराना है, लेकिन राशि ही नहीं मिल पा रही। शौचालय की दूसरी किश्त के लिए सोनू नगर परिषद व तहसील के चक्कर लगा लगा कर हार गए। अब बारिश भी आने वाली है। बारिश के समय ये तीनों दिव्यांग खासी परेशानी का सामना करेंगे। इतना ही नहीं, इनके घर में शासन की योजना से सिर्फ एक ही ट्रासाइकिल मिली है।

शौचालय के निर्माण के लिए दो किश्त दी जाती हैं। सोनू धानुक के घर पर अगर एक ही किश्त पहुंची है, तो मैं सोमवार को इनका मामला दिखवा लूंगा। इन्हें दूसरी किश्त भी जारी कराई जाएगी।

- अरुण नामदेवी, सीएमओ नगर परिषद

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags