अशोकनगर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। शासन और जिला प्रशासन के तमाम निर्देशों के बाद भी ग्राम पंचायतों में खुलेआम नियमों का उल्लंघन हो रहा है। न तो ग्राम पंचायतों में ग्रामीणों को मास्क वितरित किए गए और न ही सैनिटाइजर का वितरण हुआ है। फिजिकल डिस्टेसिंग का भी खुलेआम उल्लंघन किया जा रहा है। ग्रामीण एकसाथ बैठकर ग्रामों में देखे जा सकते है। जिन मरीजों को 14 दिन के लिए घरों में क्वारंटाइन में रखने के निर्देश दिए गए है वह घरों पर न रहकर गांव में घूम रहे है।

यह तस्वीर जिले के कई ग्रामीण अंचलों में देखने को मिली जिनमें ग्राम पंचायत मोहरीराय में ग्रामीण एक चबूतरे पर एकसाथ बैठे हुए दिखाई दिए। ग्रामीणों ने बताया कि हमारे गांव में न तो कोई मास्क वितरित किए गए , न कोई साबुन व सैनिटाइजर की व्यवस्था की गयी है। गांव में जहां देखो वहां गंदगी पसरी हुई है। इस गंदगी की सफाई की ओर ध्यान नहीं है। न ही निराश्रितों को भोजन वितरित किया जा रहा है। ग्राम पंचायत सिकंदरा में रोड़ पर बनाए गए प्रतीक्षालय में ग्रामीण एकसाथ बैठे हुए नजर आये। इन ग्रामीणों ने कहाकि परेशानियां तो काफी है परन्तु यहां पर कोई व्यवस्था नहीं है। न ही हमारे गांव में उज्जवला गैस के कनेक्शन वालों के लिए गैस टंकी दी जा रही है। घरेलू ईंधन से ही खाना बनाया जा रहा है। हमारे गांव में 200 से अधिक गैस उपभोक्ता है। उज्जवला वाले कहते है कि जब खातों में पैसा आ जाएगा तभी गैस की रिफलिंग दी जाएगी। न ही निराश्रितों को यहां भोजन वितरित किया जा रहा है।

इसी प्रकार ग्राम पंचायत जलालपुर में ग्रामीणों ने कहाकि हमारे गांव में तीन युवक होम क्वारंटाइन में रखे गए है। परन्तु फिर भी वह कभी-कभी उल्लंघन करते है जिसको लेकर ग्रामवासियों की एक बैठक की और ऐसा उल्लंघन करने वाले ग्रामीण पर फाइन लगाने की व्यवस्था की गयी है। हमने अपने गांव में एक चैकपोस्ट बनाई है। हमारे गांव का कोई भी व्यक्ति यदि बाहर जाता है या बाहर को व्यक्ति अंदर आता है तो उस चैकपोस्ट पर उसके हाथों को सेनेटाइज कराया जाता है। यह सामग्री हमने स्वयं खरीदी है। पूर्व विधायक ने हमारे यहां स्वयं मास्क भेजे थे वही मास्क हमने ग्रामीणों को वितरित किए है। कटाई के लिए ही हम ग्रामीण ही एकत्रित होकर एक-दूसरे के खेतों की कटाई कर रहे है। हार्वेस्टर और मजदूर मिल नहीं रहे। आये दिन बादल हो रहे है और मौसम विभाग की चेतावनी के कारण किसान चिंतित है।

फोटो73ए- मोहरी गांव में ग्रामीण खुलेआम नियमों का उल्लंघन कर एकसाथ बैठे देखे गए।

फोटो73बी- सिकंदरा गांव में टपरिया के अंदर इस तरह उल्लंघन करते हुए ग्रामीण नजर आये।

......

मध्या- भोजन के स्थान पर राशन सामग्री का वितरण किया जा रहा है स्कूली बच्चों को

अशोकनगर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। शहर से 6 किमी दूर ग्राम पंचायत डोंगरा पछार में शासन के निर्देश पर प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय के छात्र-छात्राओं को मध्या- भोजन में मिलने वाली सामग्री के स्थान पर गेहूं, चावल का वितरण किया गया। इस गांव में तीन विद्यालयों का एकसाथ प्राथमिक विद्यालय पर राशन वितरित किया गया। यही स्थिति मूडरा गांव में देखने को मिली। गांव के कृषक जगराम यादव ने कहाकि कई जगह फिजिकल डिस्टेसिंग का पालन नहीं किया जा रहा है। इस शिकायत का असर हुआ जिसके बाद राशन सामग्री के वितरण में नियमों का पालन कराया गया। पहले बच्चों को पास-पास खडा करके किया गया था बाद में शिकायत के बाद बच्चों को दूर-दूर खडा करके राशन सामग्री प्रदान की गई। ऐसी स्थिति अनेक ग्रामों में देखने को मिली। जबकि कई जगह यह पालन होते हुए पाया गया। प्राथमिक विद्यालय के प्रति छात्र 3 किलो 300 ग्राम खाद्यान सामग्री एवं माध्यमिक विद्यालय में 4 किलो 950 ग्राम खाद्यान सामग्री वितरित की जा रही है। बीआरसी आरसी उज्जैनी ने कई विद्यालयों में पहुचकर मध्या- भोजन की सामग्री का वितरण शिक्षकों की उपस्थिति में शासन के नियमों का पालन कराते हुए वितरित की गयी।

फोटो74- मूडरा गांव में बच्चों को दूर-दूर खड़ा करके राशन सामग्री का वितरण किया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना