28 बीआरओ 3ः अपनी परेशानी बताते धर्मशाला में ठहरे हुए लोग। फोटोःनवदुनिया

ब्यावरा। पूरे देश में लॉक डाउन के बाद से जनजीवन थम सा गया है। ऐसे में कई लोग जो काम के सिलसिले में दूसरे प्रदेशों व शहरों में आये थे। वह वहीं थम कर रह गए है और अब उनके सामने कई समस्याएं खड़ी हो रही हैं। ब्यावरा में भी कई लोग बाहर के फंसे हुए है। शहर की अग्रवाल धर्मशाला में ऐसे कई लोग महाराष्ट्र व राजस्थान से सामान बेचने ब्यावरा आए थे, वह अब आर्थिक तंगी का सामना कर रहे है। ऐसे करीबन 15 लोग लॉकडाउन के कारण समस्याओं का सामना कर रहे है। इन लोगों ने अब सहायता के लिए प्रशासन से गुहार की है। हालांकि नगर के लोगों ने इन्हें खाने पीने की सामग्री उपलब्ध कराई है, लेकिन यह लोग अपने घर वापस जाना चाहते है।

रूपये हुए खत्मः अग्रवाल धर्मशाला में फंसे हुए कोटा के पीटर, जयन्त, प्रवीण, अफजल आदि ने बताया कि वह 16 मार्च को अपना सामान बेचने ब्यावरा पहुंचे थे लेकिन उन्हें मालूम नहीं था कि देश में लॉक डाउन हो जाएगा और अब वह कहीं बाहर भी नहीं निकल पा रहे है। उनके पास जो थोड़े बहुत रूपये थे वह भी खत्म हो चुके है। इसके साथ साथ उन्हें धर्मशाला का किराया भी चुकाना पड़ रहा है। उनके परिवार जन भी उनकी स्थिति को लेकर चिंतित है। सभी का कहना है कि प्रशासन उन्हें किसी भी तरह उनके घर पहुंचाने की व्यवस्था कर दे तो वह उनका अहसान कभी नहीं भूलेंगे। गौरतलब है कि नगर में कई स्थानों पर यातायात के साधनों के अभाव में लोग फंसे हुए है।

जो भी लोग फंसे हुए है मैं खुद वहां जाकर चेक करता हूं और उनकी जो भी समस्या है उसे हल करने का प्रयास किया जाएगा।

-एआर चिरामन, तहसीलदार ब्यावरा

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना