कलेक्टर ने कहा-नैक का निरीक्षण होना है उसमें सब अपनी जिम्मेदारी निभाएं

अशोकनगर। नवदुनिया न्यूज शासकीय नेहरू कॉलेज में आंतरिक गुणवत्ता आश्वासन प्रकोष्ठ की एक बैठक आयोजित की गई। इसकी अध्यक्षता कलेक्टर डॉ मंजू शर्मा ने की। इसमें उन्होंने कहाकि आने वाले दिनों में जो नैक का निरीक्षण होना है उसे लेकर सब अपनी जिम्मेदारी गंभीरता से निभाएं। इस काम में कोई लापरवाही न करे, वह स्वयं एक सप्ताह बाद कॉलेज में निरीक्षण करने पहुचेंगी।

इस मौके पर कॉलेज की ओर से प्रभारी प्राचार्य डॉ. अशोक शर्मा, प्रकोष्ठ की समन्वयक डॉ. रेनु राजेश, डॉ. एसके तिवारी, डॉ. प्रदीप सुराना के साथ-साथ कमेटी के सदस्यों ने भी भाग लिया। यह कमेटी दो साल के लिए बनाई जाती है। इस बार फिर नई कमेटी बनाई गई है। इसके सदस्यों का भी परिचय कराया गया। जनभागीदारी समिति के अध्यक्ष वर्तमान में कलेक्टर हैं ऐसे में उनकी अध्यक्षता में भी यह बैठक आयोजित की गई। इस मौके पर बैठक में आये सदस्यों ने कॉलेज का निरीक्षण भी किया और अव्यवस्थाओं को दूर करने की मांग की।

फोटो149- कलेक्टर की अध्यक्षता में आंतरिक प्रकोष्ठ की बैठक आयोजित की गई।

दो दिन में 600 छात्र-छात्राओं ने भरे फार्म, वेरीफिकेशन भी किया प्रवेश प्रक्रिया : प्रवेश के लिए इस बार किए कई नए परिवर्तन, 10 से 16 जून तक होंगे एडमिशन

अशोकनगर। नवदुनिया न्यूज

शासकीय नेहरू स्नातकोत्तर कॉलेज में 10 जून से प्रवेश प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है। यह प्रक्रिया दो राउंडों में पूरी होगी। इस प्रक्रिया के तहत इस बार कई नए परिवर्तन भी किए गए हैं। इससे छात्र-छात्राओं को अतिरिक्त लाभ प्राप्त हो सकेगा।

कॉलेज में सबसे ज्यादा सीटें बीए प्रथम वर्ष में है। पिछली वर्ष बीए संकाय में प्रवेश पाने के लिए बड़ी संख्या में छात्र पहुंचे थे। इसके बाद 25 प्रतिशत सीटों में इजाफा किया गया था। इसकेबाद भी लगभग 150 से अधिक छात्र-छात्राओं को प्रवेश से वंचित रहना पड़ा था। इस बार भी बीए संकाय में प्रवेश के लिए बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं पहुंच रहे है। पिछले दो दिनों में लगभग 600 छात्र-छात्राओं ने अपने आवेदन भरे और उनका वेरीफिकेशन किया गया है। बीएससी प्रथम वर्ष में 67 आवेदन और बीकॉम में 127 छात्रों के आवेदन का वेरीफिकेशन किया जा चुका है। स्नातकोत्तर कक्षाओं में भी प्रवेश की प्रक्रिया जारी है। यह प्रक्रिया 10 से 16 जून तक चलेगी। इसमें छात्र-छात्राओं के रजिस्ट्रेशन किए जाएंगे। 17 को वेरिफिकेशन होगा और 27 जून को प्रदेश स्तर से प्रदेश पाने वाले छात्रों की सूची तैयार की जाएगी।

इस बार प्रवेश प्रक्रिया को लेकर जो परिवर्तन किए गए हैं उसमें अभी तक एनआईसी पर ही सारे एडमीशन होते थे, इस बार एमपी ऑनलाइन से भी प्रवेश की प्रक्रिया प्रारंभ की गई है। कॉलेज के प्राध्यापक डॉ एसके तिवारी ने बताया कि एमपी बोर्ड के जिन छात्रों के रोल नम्बर खोलने पर ही उनकी पूरी जानकारी प्राप्त हो जाती है। इसी प्रकार ऐसे छात्र जिन्हें शासन की उच्च शिक्षा विभाग की योजनाओं का लाभ मिलना है उनके आवेदन कॉलेज में सत्यापित होंगे और जिन्हें लाभ नहीं मिलना वह ऑनलाइन ही आवेदन कर सकेंगे। ऑनलाइन ही उनका सत्यापन हो सकेगा। हालाकि उनके दस्तावेजों की एक प्रति कॉलेज में जमा कराने की व्यवस्था की गई है। इसी प्रकार छात्राओं को इस बार पंजीयन शुल्क नहीं देना होगा। हर वर्ष 100 रुपए का पंजीयन शुल्क लिया जाता था मात्र छात्राओं को 50 रुपए पोर्टल चार्ज देना होगा।

फोटो149ए- कॉलेज में छात्र-छात्राएं अपने दस्तावेजों का सत्यापन कराते हुए।