लीड खबर------

पहली बार सारंगपुर पहुंचे कलेक्टर नीरज कुमार सिंह नेसिविल अस्पताल का किया निरीक्षण, कोरोना से निपटने संबंधित व्यवस्थाएं देखी

सारंगपुर में जिले की सीमा पर बढ़ाई चौकसी, दिए आवश्यक दिशा-निर्देश

सचित्र एसआरपी 27 सारंगपुर सिविल अस्पताल का निरीक्षण करते कलेक्टर नीरज कुमार, एसपी प्रदीप शर्मा।नवदुनिया।

28 शहर से लगभग 3 किमी दूर जिले की बार्डर पर चोकसी की व्यवस्था देखते हुए कलेक्टर व अधिकारी।नवदुनिया।

29 एसडीएम व तहसीलदार से जानकारी प्राप्त करते कलेक्टर, एसपी।नवदुनिया।

सारंगपुर(नवदुनिया न्यूज)।

कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने राजगढ़ पुलिस अधीक्षक प्रदीप शर्मा तथा जिला पंचायत सीईओ मृणाल मीणा के साथ सारंगपुर नगर का दौरा किया। उन्होंने कोरोना वायरस की रोकथाम के संबंध में किए गए लॉकडाउन के पालन की व्यवस्था का जायजा लिया। कलेक्टर श्री सिंह, एसपी श्री शर्मा सारंगपुर एसडीएम प्रथम कौशिक एवं तहसीलदार भूपेंद्र कैलासिया, सीईओ जपं मुकेश जैन, थाना प्रभारी मुकेश गाड के साथ सारंगपुर बार्डर कैंप का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान चिकित्सा दल एवं पुलिस स्टाफ की तैनाती एवं अन्य व्यवस्था देखी। इस दौरान बार्डर पर आवाजाही नहीं पाई गई।

कलेक्टर श्रीसिंह ने कोरोना वायरस संक्रमण महामारी के चलते पूरे देश में चल रहे लॉक डाउन को लेकर बताया कि सारंगपुर में बाहर से आने वाले लोगों को मॉडल स्कूल एवं मांगलिक भवन में क्वारेंटाइन किया जाएगा। श्रीसिंह ने बताया कि जरुरत पड़ने पर 8 छात्रावासों में भी लोगों को क्वारेंटाइन करने की व्यवस्था की जाएगी। उन्होंने मॉडल स्कूल में व्यवस्थाओं का निरीक्षण भी किया।

कलेक्टर ने बताया कि अब आवश्यक सामग्री, खाद्यान्ना, राशन व अन्य राहत बचाव सामग्री के परिवहन हेतु माल परिवहन वाहनों को परमिट की आवश्यकता नहीं है। कलेक्टर नीरज कुमार सिंह ने बताया कि शासन के निर्देशानुसार कोरोना वायरस से जनित बीमारी के संक्रमण से बचाव हेतु लोक स्वास्थ्य को देखते हुए। शासकीय कार्य की दृष्टि से 108, 104 व अन्य स्रोतों से प्राप्त शिकायतों समस्याओं का संबंधित विभागों से समन्वय स्थापित कर शिकायतों समस्याओं का 24 घंटे के अंदर निराकरण कराए जाने अधिकारी नियुक्त किया है। जिले का कोई भी व्यक्ति हेल्पलाइन नंबर से सहायता प्राप्त कर सकता है।

मुनाफाखोरी पर सख्ती से लगाएंगे रोक

किराना व अन्य दुकानदारों द्वारा की जा रही मुनाफाखोरी एवं एमआरपी से अधिक दामों पर जरुरी वस्तुएं विक्रय करने की शिकायत की तो कलेक्टर श्रीसिंह ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि मुनाफाखोरों पर प्रशासन पूरी तरह से सख्त है। मुनाफाखोरों पर है और आगे कोई किसी से अधिक दाम वसूलेगा तो उस पर सख्ती से रोक लगाएंगे और कानूनी कार्यवाही करेंगें। इस संकट की घड़ी में जो सामाजिक, धार्मिक संगठन गरीबों को भोजन और अन्य जरुरी सेवाएं दे रहे है और प्रशासनिक अमले का सहयोग कर रहे वह आभार के पात्र है।

कोरोना वायरस की स्थिति से कराया अवगत

कलेक्टर से चर्चा में बताया कि अब तक जिले में 5 कोरोना संक्रमण के संदिग्ध व्यक्ति मिले है जिनमें से 2 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिक आई है, तथा तीन लोगों की रिपोर्ट आना शेष है। उन्होंने बताया कि अभी तक जिले में 9 हजार नागरिकों की स्क्रीनिंग हो चुकी है। 19 लोगों का प्रतिदिन स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। 3 हजार लोग दो दूसरे राज्यों से आए है। स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित किया है कि जिलेभर की 1700 आशा कार्यकर्ताओं को गांवों में संदिग्धों की पहचानकर उन्हें अस्पताल लाए और जांच कराएंगे। उन्होंने बताया कि 1 अप्रैल से समर्थन मूल्य पर की जाने वाली गेहूं खरीदी को शासन के निर्देशानुसार फिलहाल स्थगित कर दिया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस