गुना। नवदुनिया प्रतिनिधि

शहर शुक्रवार की दोपहर चौराहों और बाजार में मास्क के बिना घूम रहे लोगों को पुलिस ने पकड़कर जेल भेज दिया, लेकिन खुली जेल में बंद कोविड नियमों को तोड़ने वाले युवकों को छुड़ाने के लिए पुलिस के पास फोन भी पहुंचे। वही खुली जेल के गेट पर तैनात पुलिस के जवान से एक युवक ने कांग्रेस के युवा नेता से बात कराई, उसके बाद पुलिस ने के जवान ने गेट की कुंडी खोलकर युवक को बाहर निकालकर आजाद कर दिया। उधर बाहर ड्यूटी पर तैनात पटवारी ने पुलिस के जवान से कहा कि पांच मिनट में आपने युवक को बाहर निकाल दिया। अगर यह आधे घंटे तक भीतर रहता तो कल से कोविड नियम को नहीं तोड़ता। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि इस मामले में वह संबंधित पुलिस कर्मी के खिलाफ कार्रवाई करेंगे। साथ ही खुलीजेल में बंद लोगों को सिफारिस पर नहीं छोड़ा जाएगा। कलेक्टर फ्रेंक नोबल ए. और पुलिस अधीक्षक राजीव कुमार मिश्रा के निर्देशन में चेहरे पर मास्क न लगाने वाले लोगों को आंबेडकर भवन स्थित खुली जेल में बंद किया जा रहा है। कोविड नियमों को तोड़ने वालों को पुलिस शहर के प्रमुख चौराहों से पकड़कर वज्र वाहन में बिठाती हैं, उसके बाद उनको खुली जेल में वज्र वाहन से लाया जाता है। शुक्रवार को 92 लोग नियमों का उल्लंघन करते हुए पकड़े गए थे, जिनकों खुली जेल में दो घंटे तक रखा गया। हालांकि इस दौरान खुली जेल में बंद लोगों को छुड़ाने के लिए परिजन पहुंचे, लेकिन पुलिस ने छोड़ने से इनकार कर दिया।

साहबः मेरा भाई मानसिक रोगी है, उसे छोड़ दोः

शहर के आंबेडकर भवन स्थित खुली जेल में कुंभराज से एक महिला और व्यक्ति पहुंचा उसने कहा कि उसका छोटा भाई राजा मानसिक रोगी है। उसका इलाज डॉ.भाटी पर चल रहा है। पुलिस ने जब उस युवक के इलाज का पर्चा देखा तो उसे छोड़ दिया। इस दौरान बड़े भाई ने उससे कहा कि आप घर से क्यों निकले युवक ने जबाव दिया कि वह नमाज अता करने के लिए केंट गया था, वहां से बिना मास्क के लौट रहा था, तभी पुलिस ने उसे पकड़ लिया। पुलिस के जवानों ने उसे हिदायत देते हुए कहा कि वह आगे से मास्क पहने बिना घर से न निकले।

साहब मेरा भाई अशोकनगर में दीवान है, आपने मुझे क्यों पकड़ाः

खुली जेल बंद खिड़की से एक युवक चिल्ला-चिल्लाकर पुलिस के जवानों से कह रहा था कि उसका भाई अशोकनगर थाने में पुलिस विभाग में ही दीवान है। आप लोगों ने मुझे क्यों पकड़ लिया है। लेकिन अगर मैंने मास्क पहनने का नियम तोड़ा हैं, तो कम सजा देकर ही छोड़ दो।

चैकिंग प्वाइंट पर मास्क लगाकर निकले,आगे हटाया चेहरे से मास्क,पुलिस ने पीछा कर पकड़ाः

शहर में पुलिस चौराहों और बाजार में प्वाइंट लगाकर मास्क न पहनने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई कर रही थी, लेकिन लोग चैकिंग प्वाइंट पर तो मास्क पहनकर निकलते, आगे जाकर वह चेहरे से मास्क हटा लेते। पुलिस अधीक्षक ने जब इसको लेकर वायरलेस पर निर्देश दिए तो उसके बाद पुलिस ने चेहरे पर मास्क न लगाने वाले लोगों का पीछा कर पकड़ लिया। साथ ही उन लोगों को खुली जेल में भेज दिया।

खुली जेल में बंद युवक को अगर पुलिस ने नेता की सिफारिश पर छोड़ा है, तो संबंधित पुलिस कर्मी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। नियम तोड़ने वाले लोगों के खिलाफ सख्ती की जा रही है। पुलिस अफसरों को भी इस बारे में हिदायत देंगे।

- राजीव कुमार मिश्रा, पुलिस अधीक्षक गुना

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local