अशोकनगर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना संक्रमण काल में प्रधानमंत्री नरेन्ध मोदी सरकार द्वारा सांसदों के वेतन से 30 प्रतिशत राशि एवं दो वर्ष तक सांसद निधि की राशि स्वास्थ्य संसाधनों को जुटाने के निर्णय का सांसद डॉ.केपी यादव ने स्वागत किया है। इसी के तहत सांसद निधि को दो साल के लि टाल दिया गया है। वहीं राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और राज्यपालों ने भी अपने वेतन से 30 प्रतिशत योगदान देने का निर्णय लिया है।

मंगलवार को सांसद डॉ.केपी यादव ने भाजपा मीडिया सेंटर के माध्यम से कहा कि नर सेवा ही नारायण सेवा है, इसी को चरितार्थ कर हमारे प्रधानमंत्री कार्य कर रहे हैं। सांसद श्री यादव ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्ध मोदी ने केबिनेट बैठक में लिए गए निर्णय में सभी सांसदों के वेतन से 30 प्रतिशत राशि एवं दो वर्ष तक 10 करोड की सांसद निधि की राशि स्वास्थ्य संसाधन जुटाने के निर्णय का वे दिल से स्वागत करते हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण जैसी महामारी का हम सभी को मिलकर सामना करना है। इस महामारी से निपटने के लिए हमारे प्रधानमंत्री दूरदर्शी जो निर्णय ले रहे हैं, और जनता जो एक जुटता से समर्थन कर रही है उसके लिए वे आभारी हैं।

..

शाढौरा में लॉकडाउन का नहीं कर रहे पालन

शाढौरा(नवदुनिया प्रतिनिधि)। लॉक डाउन के चलते और धारा 144 लागू होने के बाद अशोकनगर कलेक्टर के आदेशानुसार जिले में किराना, मेडिकल, दूध डेयरी जैसे प्रतिष्ठान को खोलने के लिये सुबह 7 बजे से 10 बजे तक छूट रखी गई है। वही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए भी कहा गया है लेकिन शाढौरा नगर में किराना, दूध डेयरी, मेडिकल के अलावा भी कई अन्य प्रतिष्ठान भी खुले देखे जा सकते हैं। जिनमे जनरल स्टोर, मोबाइल शॉप के साथ कई अन्य प्रतिष्ठान भी सुबह 7 से 10 बजे तक खुले देखे जा सकते है। वही न ही कोई प्रतिष्ठान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवा रहा है। जिससे कोरोना वायरस के संक्रमण फैलने का खतरा बना रहता है। ऐसे में ही नगर की सडकों पर सुबह 10 बजे तक तो ऐसा लगता है जैसे कोई लॉकडाउन लगा ही नही और न ही धारा 144 का पालन नजर आता है। वहीं धारा 144 लागू होने के बाद भी गली मोहल्लों में दिन एवं रात में भी लोग सामुहिक रूप से देखे जा सकते है ।

...

जिले में कोई कोरोना पाजीटिव नहीं पाया गया

अब तक 5323 व्यक्तियों की स्क्रीनिंग की गई

अशोकनगर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। जिला स्वास्थ्य विभाग अशोकनगर द्वारा जारी कोरोना हेल्थ बुलेटिन के अनुसार जिले में अभी तक बाहर से आए 5323 व्यक्तियों ं की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। कोरोना से संबंधित 17 सेम्पनल जांच हेतु भेजे गए जिनमें से 16 सेम्पल प्राप्त हो गए हैं जो कि निगेटिव हैं। शेष 01 सैम्पैल की रिपोर्ट अभी अप्राप्त है। जिले में अभी तक कोई भी कोरोना पॉजीटिव केस नहीं है। जिले में अब तक ग्रामीण क्षेत्रों में 3596 बाहर से आए प्रवासी श्रमिकों को चिन्हांकन किया गया है। जिसमें से अस्वलस्थआता के प्रारंभिक लक्षणों वाले 1090 व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जाकर निगरानी में रखा गया है। अब तक कोई प्रवासी श्रमिक कोरोना पाजीटिव नहीं पाया गया है। प्रवासी श्रमिकों को पृथक रखे जाने व स्वा स्य्‌ प परीक्षण के लिए 18 स्वाास्थ्ये कैंपों की स्थापना की गई है। चिन्हित आवश्याकता वाले व्य क्तियों व प्रवासी श्रमिकों को 354 राहत कैंपोंध्शेल्ट र में भोजन की व्य वस्थाो की गई है। जिसमें अब तक 3559 फूड पैकेट्स का वितरण किया जा चुका है। आंगनवाडी के पंजीकृत हितग्राहियों को आंगनवाडी कार्यकर्ताओं द्वारा पूरक पोषण आहार भी घर-घर पहुंचाया जा रहा है।

.......

राजपुर में गैस टंकी को लेने के लिए किया जा रहा है लॉकडाउन का उल्लंघन

राजपुर (नवदुनिया प्रतिनिधि)। राजपुर में गैस एजेंसी नहीं है। कचनार से गैस एजेंसी के द्वारा राजपुर में ग्रामीणों को सिलेंडर वितरित किए जाते है। यह सिलेंडर घर-घर जाकर वितरित न करते हुए एक ही स्थान पर गैस टंकी की डिलेवरी उपभोक्ताओं को प्रदान की जाती है। इन दिनों कोरोना वायरस संक्रमण का दौर चल रहा है। उपभोक्ताओं को एक स्थान पर एकत्रित न किया जाये इस तरह के निर्देश है। लेकिन सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं किया जा रहा है। एकसाथ भीड देखी जा सकती है जबकि थाना प्रभारी द्वारा गैस वितरण कम्पनी के लोगों को निर्देश भी दिए गए है। इसके बाद भी नियमों का उल्लंघन किया जा रहा है।

फोटो75- राजपुर में गैस सिलेंडर के लिए भीड़ लगाकर प्रदान किए जा रहे है सिलेंडर।

.......

कर्मचारियों को वेतन न मिलने की जानकारी लेने पहुचे पत्रकार से दुर्व्यवहार

चंदेरी (नवदुनिया प्रतिनिधि)। चंदेरी में नगरपालिका परिषद के कर्मचारियों को वेतन प्राप्त नहीं हो रहा है जिसको लेकर कर्मचारी परेशान है। जिसकी जानकारी लेने के लिए जब एक पत्रकार निर्मल विश्वकर्मा द्वारा वेतन न मिलने की मांग कर जानकारी चाही गयी तब सीएमओ द्वारा बताया गया था कि उनके द्वारा एक मुश्त राशि विद्युत वितरण कम्पनी के बिल भुगतान में जमा करा दी गयी है। जब संचित निधि में से राशि कर्मचारियों को वेतन के रूप में दिए जाने की बात की गयी तभी सीएमओ के समीप बैठे हुए लेखापाल द्वारा दुर्व्यवहार किया गया। जिसे लेकर उन्होंने वरिष्ठ अधिकारियों का ध्यान आकर्षित कराया है और उक्त मामले में कार्यवाही की मांग की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना