अशोकनगर(नवदुनिया प्रतिनिधि)। जिपं अध्यक्ष के मनचाहे कक्ष नहीं मिलने के बाद पहली बार शपथ ग्रहण कर कार्यालय पहुंचे अध्यक्ष को कांफ्रेंस कक्ष में बैठना पड़ा। जो पुराना कक्ष अध्यक्ष के लिए तैयार किया था उसमें उन्होंने बैठने से इंकार करते हुए सीईओ कक्ष को खुद का कक्ष बनाने के लिए कहा था। लेकिन जब सोमवार को पहली बार अध्यक्ष कार्यालय पहुंचे और उनकी बात अनसुनी दिखी तो वे सभागार में बैठ गए। इसके बाद आनन-फानन में कर्मचारी सीईओ बंगले पर पहुंचे और चाबियां लेकर आए। तब कहीं सीईओ का कक्ष खुला जिसमें अध्यक्ष ने सीईओ की नेम प्लेट हटाकर टेबल पर खुद की प्लेट रखवा दी। वहीं कक्ष के बाहर अभी भी जिपं सीईओ की प्लेट लगी है।

जिपं कार्यालय के निर्माण के बाद अध्यक्ष का कक्ष पहली मंजिल पर निर्धारित किया गया था। तत्कालीन जिपं अध्यक्ष मलकीत सिंह ने इसी कक्ष में अपना पूरा कार्यालय किया। इसके बाद जब बाईसाहब यादव अध्यक्ष बनी तो उनका कक्ष नीचे बन गया। इसके बाद पूर्व अध्यक्ष के कक्ष में सीईओ बैठ गए। कुछ ही दिन पहले जिपं अध्यक्ष का चुनाव जीतने के बाद अध्यक्ष जगन्नााथ सिंह रघुवंशी ने जिपं के कर्मचारियों को उनके लिए पहली मंजिल का कक्ष निर्धारित करने के लिए कहा था लेकिन सोमवार को शपथ ग्रहण करने के बाद जब श्री रघुवंशी जिपं कार्यालय पहुंचे तो वहां पुराने कक्ष के बाहर साज सज्जा की गई थी जिस पर श्री रघुवंशी ने उक्त कक्ष में बैठने से इंकार कर कांफ्रेंस रूम में बैठ गए। इसके बाद आनन-फानन में सीईओ के बंगले से चाबियां मंगाकर ऊपर का कक्ष खुलवाया तब श्री रघुवंशी ऊपर के कक्ष में जाकर बैठे।

18 से अवकाश पर हैं सीईओ- अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पद के निर्वाचन से पहले जिपं सीईओ अवकाश पर चले गए। तब से वे कार्यालय नहीं आए हैं। उनकी अनुपस्थिति में चार्ज एसीईओ विशाल सिंह पर है। चूकि अध्यक्ष बनने के बाद श्री रघुवंशी द्वारा स्पष्ट तौर पर ऊपर का कक्ष उनको आरक्षित कराने के लिए कहा गया था लेकिन इसके बाद भी उनकी बात को अधिकारियों ने अनसुना कर दिया।

कक्ष के बाहर सीईओ की नेम प्लेट, टेबल पर अध्यक्ष की- जिपं कार्यालय में आगामी समय में आने वाले लोग भ्रमित होंगे। क्योकि पहली माला पर जो सीईओ का कक्ष था उसके बाहर उनकी नेम प्लेट लगी है तो अंदर टेबल पर जिपं अध्यक्ष की प्लेट रखी है। इस स्थिति में फिलहाल जिपं में कोई बताने की स्थिति में नहीं है कि अवकाश से लौटने के बाद सीईओ साहब कहां पर बैठेंगे। अगर ऐसे में सीईओ भी कक्ष न छोड़ने की जिद पर अड़ गए तो निश्चित की यह कक्ष का मामला विवादित बन सकता है।

शपथ ग्रहण समारोह हुआ-सोमवार को अध्यक्ष, उपाध्यक्ष सहित सभी जिपं सदस्यों ने शपथ ग्रहण की। एक निजी गार्डन में आयोजित इस कार्यक्रम में पीएचई राज्यमंत्री बृजेन्द्र सिंह यादव, विधायक जजपाल सिंह जज्जी सहित अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।

इनका कहना- जिपं भवन के निर्माण के समय ही डिजाइन में ऊपर पहली मंजिल पर जो कक्ष है वह अध्यक्ष के लिए आरक्षित हैं। पहले गलत तरीके से इस कक्ष को बदल दिया गया। कक्ष खुल गया है और आज मैं वहीं पर बैठा था।

- जगन्नााथ सिंह रघुवंशी जिपं अध्यक्ष अशोकनगर।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close