बालाघाट। नईदुनिया प्रतिनिधि। सड़क पर दस का नोट भी गिरा हो तो उसे उठाने के लिए लोगों की भीड़ मच जाती है और किसी को मिल जाने पर मेरा-मेरा कहकर झगड़ भी हो जाता है, लेकिन आज 12 नवंबर को एक अधिवक्ता ने मानवता की वो मिसाल पेश की है जिसे लंबे समय तक भुल पाना मुश्किल है।

यहां पर उक्त अधिवक्ता ने सड़क पर एक लाख 40 हजार रुपये से भरा बैग मिलने के बाद जिसका बैग तो उसे वापस लौटा दिया है।

राकेश मेडिकल के पास एक लाख

समनापुर निवासी यदूनाथ भौरगढ़े पान की दुकान का संचालन करता है, जो बालाघाट आकर व्यापारी से सामग्री खरीदकर ले जाता है। आज वह व्यापारी को रुपये देकर सामग्री को खरीदने के लिए अपने गांव समनापुर से बालाघाट आ रहा था। इस दौरान कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत राकेश मेडिकल की दुकान के सामने उसका बैग गिर गया और इस बात का पता नहीं चला जिससे वह आगे निकल गया।

अधिवक्ता ने उठाया बैग किया पीछा

जिला न्यायालय के अधिवक्ता शैलेष कुमार पाराशर उसी दौरान अपनी मोटरसाइकिल से न्यायालय की ओर आ रहे थे और उन्होंने सड़क पर गिर उक्त बैग को उठाकर मौके पर ही आवाज लगाई की यह बैग गिर गया। इतना ही नहीं उन्होंने पीछा कर काली पुतली चौक में पहुंचकर एक से दो मोटर साइकिल सवार लोगों को रोककर पूछा भी लेकिन बैग का असली हकदार उन्हें नहीं मिला तो वे बैग को लेकर न्यायालय पहुंच गए।

अधिवक्ता तक पहुंचा पीडि़त तो लौटाया बैग

एक तरफ अधिवक्ता बैग वाले की तलाश कर रहे थे तो दूसरी तरफ बैग की तलाश कर रहे पीडि़त ने बैग घुम जाने की जानकारी कोतवाली पुलिस को दी और मौके पर पहुंचकर सीसीटीवी फुटेज के माध्यम से अधिवक्ता तक पहुंची, जहां पर अधिवक्ता ने पहले ये पूछताछ की कोई गिरा हुआ बैग जो व्यक्ति आया है उसी का है या नहीं जब तसल्ली हुई कि बैग उक्त व्यक्ति का ही है तो उसे बैग लौटा दिया जिसमें सौ, दौ सौ नहीं बल्कि पूरे एक लाख 40 हजार रुपये थे।

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close