बालाघाट, लामता (नईदुनिया प्रतिनिधि)। वन्यप्राणी तेंदुआ शनिवार की रात एक गांव में घुस गया। तेंदुए को देखते ही अफरातफरी का माहौल निर्मित हो गया। इस बीच तेंदुए ने मवेशी बांधने वाले तबेले में घुसकर दो मवेशियों का शिकार कर लिया और एक मवेशी को गंभीर रूप से घायल कर दिया। घटना उत्तर लामता वन परिक्षेत्र अंतर्गत चमरवाही गांव की है। जानकारी मिलने पर रविवार को रेंजर नरेश कुमार काकोड़िया अपने अमले के साथ मौके पर पहुंचे। जहां पर मृत मवेशियों का पंचनामा कार्रवाई पूरी कराते हुए पशु चिकित्सक से पोस्टमार्टम कराकर मवेशी मालिक को अंतिम संस्कार करने सौंप दिया गया।

ग्रामीणों ने बताया कि भीषण गर्मी में जंगल का चारा पानी खत्म हो गया है। इसके लिए वन्यप्राणी जंगल से होकर गांव में प्रवेश करने लगे हैं। शनिवार की रात 10 से 11 बजे के बीच एक तेंदुआ गांव के अंदर घुस आया। तेंदुआ के गांव में आने की जानकारी कुत्तों के भौंकने से लगी। तेंदुआ को देखते ही गांव के सभी लोग भयभीत हो गए। इस बीच एकजुट होकर भगाने का प्रयास किया गया, लेकिन तेंदुआ ने गांव के श्यामलाल पिता कपूरचंद के गाय का एक बछड़ा, रविशंकर पंचेश्वर की एक बकरी का शिकार कर लिया। वहीं दयाशंकर की एक बकरी को घायल किया है। घटना के बाद से रातभर ग्रामीण सो नहीं पाए और अपने मवेशियों को बांधने वाले तबेले के सामने जागते करते रहे।

घायल बकरी का इलाज कराएंगे : वन विभाग के अधिकारी ने बताया कि उत्तर लामता परिक्षेत्र के अंतर्गत चमरवाही गांव में शनिवार की रात में तेंदुआ ने गाय का एक बछड़ा, एक बकरी का शिकार कर दिया और एक बकरी को घायल किया गया है जिसका इलाज जारी है। इलाज में जितना खर्च आएगा उसका पूरा वहन करेंगे। इन सबका पीआरओ क्रमांक 14/91, 92, 93 दर्ज कर सूचना वरिष्ठ कार्यालय को भेजी गई है। घटना के दौरान मुख्य रूप से घटनास्थल पर वन सभापति बालाघाट प्रशिक्षु वन क्षेत्रपाल नितिन पवार, चमरवाही वन समिति अध्यक्ष राधेलाल बर्मी की उपस्थिति में प्रकरण की कार्रवाई की गई है। यहां के लोगों को शांति बनाए रखने और वन विभाग से मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया गया है।

..................

वन परिक्षेत्र उत्तर लामता की पूरी रेंज कान्हा नेशनल पार्क के पेंच कॉरीडोर से जुड़ गई है जिससे बहुतायात वन्यप्राणियों आ जाते हैं। वर्तमान में भीषण गर्मी होने से वन्यप्राणी जंगल से विचरण करते हुए गांव में आए होंगे। गांव में आने वाले वन्यप्राणियों को हानि नहीं पहुंचाया जाए। यदि वन्यप्राणी कहीं प्रवेश करते हैं तो इसकी जानकारी वन विभाग को तत्काल देकर सूचित करें। वन्यप्राणियों द्वारा ग्रामीणों के पालतू मवेशियों का शिकार कर लिया जाता है तो इसका उचित मुआवजा भी विभाग की तरफ से दिलाया जाएगा।

-नरेश कुमार काकोड़िया, रेंजर उत्तर सामान्य लामता।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना