बालाघाट (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में इन कम वर्षा हो रही है धान का रोपा लगाने के लिए किसान सिंचाई के लिए पंप सुधारने या अन्य कार्य में बिना किसी जांच के कुएं में उतर जाते है। कुएं में जहरीली गैस होने से उसमें उतरने वाले व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है। ऐसी स्थिति से बचा जा सकता है। यदि कुएं में उतरने से पहले उसमें जहरीली गैस के होने की जांच कर ली जाए। कलेक्टर दीपक आर्य ने जिले के किसानों से अपील की है कि वे जब भी सिंचाई संबंधी कार्य से कुएं में उतरना हो तो पहले जांच कर लें कि कुएं में कही जहरीली गैस तो नहीं है। कुएं में जहरीली गैस की जांच के लिए जलता हुआ दीपक रस्सी से बांधकर पानी की सतह के पास तक ले जाए। यदि दीपक बुझ जाए तो समझ लें कि कुएं में जहरीली गैस है। ऐसी स्थिति में कुएं से जहरीली गैस को बाहर निकालने का प्रयास करें।

जहरीली गैस को बाहर निकालने के लिए छाते को फैलाकर उल्टा कर रस्सी से बांधकर कुएं के पानी की सतह तक ले जाए और वहां की हवा को बाहर निकालें। दोबारा जलते हुए दीपक को पानी की सतह तक ले जाकर देखे कि वह जल रहा है या नहीं। कुएं से जहरीली गैस निकालने के लिए ऊपर से पानी का छिड़काव भी किया जा सकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020