परसवाड़ा (नईदुनिया न्यूज)।

परसवाड़ा तहसील के नाटा पंचायत अंतर्गत पंडाटोला व डंडईझोला गांव के बैगा आदिवासियों को सालों से पथरीले सड़क से आवाजाही करना मजबूरी बन गई है। सात दशक से सड़क और नाले पर पुल बनाने की मांग की जा रही है, लेकिन अब तक यह पूरी नहीं सकी है। जिससे ऐसा लगता है कि दोनों गावों से जनप्रतिनिधियों से लेकर अफसरों को मोह भंग हो गया है। दरअसल, दोनों गांव पंचायत से तीन किमी दूर पर है। इन गांव में आने जाने कोई दूसरा रास्ता नहीं होने से बारिश के दिनों में चार माह तक सात सौ की आबादी गांव में कैद रहती है।

पुल निर्माण नहीं होने से ग्रामीण परेशान

ग्रामीण हीरासिंह उइके, मोहनसिंह उइके, फूलसिंह उइके ने बताया कि नाटा पंचायत से पंडाटोला व डंडईझोला तक दो पुल पार करने पड़ते हैं। जिनमें से एक तो बहुत निचला पुल है दूसरा पंडाटोला से डंडईझोला के बीच नाले में तो पुल ही नहीं है। रास्ता खराब होने के चलते यहां पर दुर्घटनाएं भी घटित होती हैं और कई जगहों पर गड्ढे भी हो चुके है। बारिश के दिनों में गांव तक तो वाहन भी नहीं पहुंच पाते। जिसके चलते पूरा आवागमन ही बंद हो जाता है। ऐसे में यदि कोई बीमार पड़ जाए तो यहां 108 वाहन के पहुंचने का भी रास्ता नहीं है। दो पुलों का शीघ्र ही निर्माण कर गांवों को तहसील मुख्यालय से जाने वाले मंडला मार्ग तक जोड़ा जाए। जिससे आवागमन करने में किसी तरह की समस्याओं का सामना ना करना पड़े।

पुल और सड़क बनाने की मांग

आदिवासी महिला प्रेमवती ने बताया कि पंडाटोला में उनके घर के सामने लगे हैडपंप चार से बंद है जिससे उन्हें पीने के पानी की समस्या हो रही है। दूरदराज के कुएं या हैंडपंप से उन्हें पानी लाना पड़ रहा है। वहीं मवेशियों के लिए पानी की समस्या होती है। ग्रामीणों का कहना है कि बैगा आदिवासी बच्चों के लिए यहां आश्रम की व्यवस्था किया जाना चाहिए। चूंकि बच्चे छोटे हैं और मुख्यालय तक नहीं जा सकते है। सड़क, पुल के निर्माण सहित अन्य समस्याओं को लेकर कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर शिकायत की गई है, परंतु समस्या हल नहीं हो पाई है। गांव के जयपाल मेरावी, मोहबतलाल मेरावी, भादूलाल मेरावी, रामप्रसाद मेरावी, बसंतलाल मेरावी, सोहनसिंह उइके, उपसरपंच अम्मावती उइके, अंतुसिंह मेरावी, नाथूराम उइके, गंतोबाई सहित अन्य ने सड़क व पुल बनाने की मांग की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस