बालाघाट (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले की तीन तहसील कटंगी, खैरलांजी व बैहर कम बारिश होने से परेशानी में है और जिलेभर में भी अब तक पिछले वर्ष की तुलना में कम ही बारिश हुई है। वहीं पिछले 24 घंटे के दौरान झमाझम हुई बारिश से लोगों को खुशी तो हुई है, लेकिन जलभराव की स्थिति उत्पन्ना होने से उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ा है जिससे नाराज लोगों ने नपा के खिलाफ आक्रोश भी जाहिर किया है। पिछले 24 घंटे के दौरान 49.1 मिलीमीटर बारिश हुई है। बता दें कि जिले में कुल 24 छोटी-बड़ी नदियां हैं जिनका जल स्तर लगातार बढ़ रहा है।

33 कालोनियों में जलभराव की स्थिति : बीती रात से हो रही लगातार बारिश से बालाघाट नगरीय क्षेत्रों की सभी 33 कालोनियों में जलभराव की स्थिति उत्पन्ना हो गई है। पिछले वर्ष की बाढ़ को याद कर लोगों ने सड़कों पर पानी बढ़ता देख उसकी निकासी के लिए नगर पालिका अमले को बुलाकर पानी की निकासी के लिए नालियों को साफ करते नजर आए तो वहीं सड़कों पर भरे पानी से आवागमन भी करते रहे। वहीं मुख्य मार्ग हनुमान चौक तालाब में तब्दील हो गया जिससे भी राहगीरों को परेशानियों का सामना करना पड़ा है। यहां प्रेम नगर से लेकर हनुमान चौक तक करीब आधा किलोमीटर तक सड़क पर पानी भरा रहा।

लिंगा-नैतरा और लांजी मार्ग हुआ बंद : झमाझम बारिश के चलते नदी, नालों का जलस्तर भी बढ़ गया है जिससे आवागमन बाधित हो गया हैं। मुख्यालय से लगे नैतरा ग्राम के नाला में सड़क के ऊपर पानी भरने से लिंगा समेत अन्य गांवों को मार्ग अवरुद्ध हो गया और बारिश रुकने के बाद मुख्यालय आने वाले लोगों को हटट्टा-सालेटेका मार्ग से लंबा सफर तय कर पहुंचना पड़ा है। इसी प्रकार लांजी-सालेटेकरी मार्ग पर पड़ने वाला कटंगटोला नाला भी उफान मारने से घोटी, नंदोरा, देवरबेली,बेलगांव, सिर्रा, कसोली, पौसेरा समेत अन्य गांवों के बीच आवागमन बाधित रहा है।

रातों की नींद उड़ी : नगरीय क्षेत्र का समस्त पानी नगर के वार्ड क्रमांक छह, चित्रगुप्त नगर के तरफ जमा होता है और यहां से पानी की निकासी न होने के कारण बारिश का पानी वार्डों में जमा हो जाता है जिससे यहां के रहवासियों को परेशानियों के साथ आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ता है। रहवासी अमरसिंह ठाकुर ने बताया कि लगातार पानी बढ़ता देख बैचेनी बढ़ गई थी और नींद उड़ गई। लगा कि फिर पिछले वर्ष से हालात निर्मित न हो जाए जिससे उन्होंने करीब 80 हजार रुपये का नुकसान हुआ था। वहीं चित्रगुप्त नगर निवासी दीपक तिवारी ने बताया कि उनके वार्ड में नाली न होने से जलभराव की स्थिति उत्पन्ना होती है जिसके समाधान के लिए शिकायत भी की गई है, लेकिन शिकायत का समाधान नहीं हो पाता है। जिसके चलते आने वाले समय में होने वाले चुनाव में रहवासियों ने मतदान न करने का निर्णय लिया हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local