Balaghat News : बालाघाट (नईदुनिया प्रतिनिधि)। पौधे लगाकर पेड़ बनते तक उनकी देखभाल बच्चों की तरह करना बड़ा पुण्य का काम है। ऐसे ही कार्यों को नेवरगांव के पर्यावरण प्रेमी अजय परिमल अपने परिवार और मित्रों के साथ पिछले आठ साल से करते आ रहे हैं। अजय पौधरोपण कर पौधों को सुरक्षित करने का भी कार्य करते हैं। अन्य लोगों को पौधों के प्रति जागरूक करने के लिए प्रतिवर्ष रक्षासूत्र बांधते हैं। इनके लगाए गए अनेक पौधे आज पेड़ बनकर फल, फूल और छाया प्रदान कर रहे हैं। उन्होंने नेवरगांव के अलावा समीप के ग्राम पाथरी, लोहारा में भी पौधरोपण अभियान चलाकर लोगों को इसके प्रति जागरूक किया।

पर्यावरण प्रेमी अजय परिमल ने बताया कि पेड़-पौधों के अस्तित्व से ही हमारा वजूद जुड़ा हुआ है। यही वजह है कि इन्हें भारतीय संस्कृति में आस्था से भी जोड़ दिया गया है। बहुत से पौधे हमारी धार्मिक, सांस्कृतिक मान्यताओं से भी संबंधित हैं इसमें तुलसी, आम, जामुन, गिलोय, नीम, पीपल, बरगद, सीताफल, पारिजात, अशोक, पुत्ररंजीवा, अमरूद, नींबू, आंवला, अर्जुन, सागौन व संतरा के अनेक पौधों का रोपण कर पर्यावरण को संतुलित करने का प्रयास किया है।

पेड़ों की कमी प्रकृति का संकट

अजय परिमल कहते हैं कि वर्तमान समय में पेड़ों की कमी मौसम के बदलाव का संदेश है। हमें ग्राम पंचायत स्तर से बड़े स्तर तक प्रति व्यक्ति कम से कम एक पौध अपने जीवन में जरूर लगाना चाहिए। इससे हमारा गांव, प्रदेश, देश हरा-भरा हो सकेगा। अजय परिमल के साथ उनकी पत्नी सरिता परिमल, पुत्र धवल परिमल, पुत्री दिव्या व मौली परिमल ने पेड़ों को रक्षासूत्र बांध इन्हें सुरक्षित रखने का संकल्प लिया। उनका मानना है कि प्रदूषण की गंभीरता को समझते हुए हमें अपने घर और सार्वजनिक स्थलों पर पौधरोपण कर प्रदूषण मुक्त वातावरण निर्मित करने की जरूरत है।

ये है खास

- आठ साल में एक हजार पौधे रोपे और पूरे जीवित हैं।

- 180 पौधे लगाकर घर के आंगन में तैयार की सुंदर वाटिका।

- पौधे लगाकर गोबर, कोयला व रेत मिलाकर डालते हैं खाद।

- पंचायत में जरूरत पड़ने पर वाटिका से पौधे प्रदान करते हैं।

- उनका मानना है कि कम पौधे लगाओ ताकि देखरेख कर वे बड़े हो सकें।

- गर्मी के दिनों में रोजाना वाटिका में करते हैं योगाभ्यास।

इनका कहना है

अजय परिमल पर्यावरण प्रेमी होने के साथ पक्षी प्रेमी भी हैं। पंचायत में पौधरोपण करने पर हम उनकी मदद लेते हैं। पर्यावरण को संरक्षण करने में इनका अहम योगदान है।

-नासिर अली, सरपंच ग्रापं नेवरगांव

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020