वारासिवनी। रामदेव शाह पीर रामदेव बाबा रुडीचा राजस्थान की अनन्य उपासक और भक्त स्वर्गीय गोवर्धन महाराज की धर्मपत्नी उत्तम बाई ब्रह्मलीन हो गई है। लगभग 102 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाली उत्तम बाई विगत 3 माह से बीमार चल रही थी। नगर के भक्ति क्षेत्र में आपका सर्वाधिक योगदान रहा है। लालबर्रा रोड पर स्थित बाबा रामदेव मंदिर के अस्तित्व का आधार उन्हीं की निस्वार्थ भक्ति पर टिका हुआ है। नगर में गर्त में छीपे बाबा रामदेव मंदिर में सेवा की जिम्मेदारी स्वर्गीय गोवर्धन उपाध्याय के हस्ते रही। उनकी अंतिम यात्रा उनके वार्ड नंबर 14 स्थित निवास स्थान से निकाली गई और स्थानीय मोक्षधाम में उन्हें मुखाग्नि दी गई। इस मौके पर नगर के सैकड़ों गणमान्य नागरिकों ने दो मिनट का मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की।