बालाघाट (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बालाघाट में बड़े वाहनों के आवागमन के लिए रिंग रोड, बायपास समेत अन्य संसाधन न होने के कारण शहरी क्षेत्र में लगातार दबाव बढ़ता ही जा रहा है। इस समस्या के समाधान के लिए नगरीय क्षेत्र से लगे दक्षिण वनपरिक्षेत्र के डेंजर रोड को बायपास के विकल्प के रूप में अपनाया गया है और गर्रा स्थित वैनगंगा नदी के बड़े पुल के समीप से लेकर जागपुर घाट तक सड़क का निर्माण कार्य किया जा रहा है,जो मार्च माह में ही पूर्ण हो जाना था लेकिन वर्तमान स्थिति में भी इस सड़क का निर्माण कार्य पूर्ण नहीं हो पाया है। वहीं अब इस अधूरी सड़क का निर्माण लोगों के लिए डेंजर होता जा रहा है और इस सड़क से आवागमन करने के दौरान लोग सड़क दुर्घटना का शिकार भी हो रहे है और चोपहिया व दोपहिया वाहन लगातार इस सड़क पर अनियंत्रित होकर गिर रहे है उसमें सवार लोग भी घायल हो रहे है।

कार अनियंत्रित होकर पलटी, टली बड़ी दुर्घटनाः बीती देर शाम एक चोपहिया वाहन जो जबलपुर पासिंग है, डेंजर रोड की मोड़ पर अनियंत्रित होकर सड़क के नीचे पेड़ों से टकराकर पलट गया। जिससे इस वाहन में सवार लोगों की चीख-पुकार मच गई हालांकि इस सड़क दुर्घटना में किसी को भी गंभीर चोट नहीं है, लेकिन वाहन के क्षतिग्रस्त होने से आर्थिक नुकसान होने के साथ ही क्रेन की मदद से वाहन को निकालना पड़ा है।

चार करोड़ से अधिक की लागत से हो रहा निर्माणः जागपुर घाट से लेकर वैनगंगा नदी के बड़े पुल तक डेंजर रोड के चौड़ीकरण का निर्माण कार्य चार करोड़ से अधिक की लागत से किया जा रहा है।इसके निर्माण कार्य में लेटलतीफी को लेकर सड़क सुरक्षा की बैठक में बालाघाट-सिवनी सांसद डॉ. ढालसिंह बिसेन ने नाराजगी जताकर 31 मार्च 2022 तक सड़क निर्माण का कार्य गुणवत्तापूर्ण तरीके से पूर्ण करने के निर्देश दिए थे, लेकिन मार्च के अप्रैल, मई, जून, जुलाई बीत गए और अगस्त माह शुरु हो चुका है काम पूर्ण नहीं हो पाया है।

गुणवत्ताहीन हो रहा निर्माण, इसलिए हो रही परेशानीः वैनगंगा नदी से लगे प्राकृतिक वनों के बीच शुद्ध आक्सजीन के रोजाना बड़ी संख्या में लोग डेंजर रोड का भ्रमण करते है, जो डेंजर रोड के निर्माण को लेकर लगातार सवाल भी खड़े करते रहते है। इन लोगों का कहना है कि डेंजर रोड का निर्माण एक तो सही तरीके से नहीं किया जा रहा है उपर से गुणवत्ता का भी ख्याल नहीं रखा जा रहा है। जिसका ही ये नतीजा है कि अभी निर्माण कार्य भी पूर्ण नहीं हुआ है और सड़क जगह-जगह से दरक गई है और कई स्थानों पर गड्ढे भी हो चुके है। वहीं वर्तमान समय में बड़े वाहनों का आवागमन भी शुरु नहीं हुआ है बड़े वाहनों के शुरु होने पर ये सड़क एक बारिश भी नहीं झेल पाएगी।

इनका कहना....

रोजाना भ्रमण के लिए डेंजर रोड आते है इसे डेंजर रोड के विकल्प के रूप में बनाया तो जा रहा है लेकिन निर्माण के दौरान गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा जा रहा है। जिसके ही कारण यहां आए दिन सड़क दुर्घटनाएं हो रही है। शासन-प्रशासन को इस ओर ध्यान देने की आवश्यकता है जिससे की ये सड़क बायपास का विकल्प बन सके।

-दीपक चिचवानी, स्थानीय निवासी।

इनका कहना....

शहर में बड़े वाहनों के आवागमन के लिए सड़क न होने की स्थिति में प्राकृतिक जगह डेंजर रोड का चौड़ीकरण किया जा रहा है, लेकिन निर्माण कार्य के दौरान गुणवत्ता पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिसके कारण सड़क कई स्थानों पर दरक गई है और गड्ढे भी हो चुके है। जिससे आए दिन वाहन अनियंत्रित होकर सड़क दुर्घटना का शिकार हो रहे है और लोग घायल भी हो रहे है। -मनोज सोनी, स्थानीय निवासी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close