बालाघाट (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बारिश का मौसम लगते ही सर्पदंश की घटनाएं बढ़ने लगती है। एक सप्ताह के भीतर आधा दर्जन से अधिक सर्पदंश की घटना सामने आई है। सरकारी अस्पतालों में एंटी स्नेक वेनम होने के बाद भी सर्पदंश से आहत लोगों को जिला अस्पताल रेफर किया जा रहा है। ऐसे में मरीजों के जान पर बन आती है। ग्रामीण क्षेत्रों के सरकारी अस्पताल में डाक्टर पदस्थ कराए जाने की मांग की जा रही है। लेकिन यह पूरी होते हुए दिखाई नहीं देती है।दरअसल,बिरसा, परसवाड़ा, गढ़ी, दमोह, उकवा, चांगोटोला, लामता में सरकारी अस्पताल है।इनमें स्नेक वेनम उपलब्ध करवा दी गई है।इन अस्पतालों में डाक्टर पदस्थ नहीं होने से सर्पदंश के मरीजों को अन्यत्र जगह रेफर किया जा रहा है।

बालाघाट में एक जिला अस्पताल के अलावा सिविल अस्पताल तीन,सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र नौ,प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र 36 और उप-स्वास्थ्य केंद्र 328 है।इनमें से वारासिवनी, कटंगी, तिरोड़ी, लालबर्रा, बैहर व लांजी को छोड़ दिया जाए तो अन्य जगह डाक्टरों की कमी बनी हुई है।जिससे सर्पदंश की घटना होने पर अधिकांश लोगों को जिला अस्पताल रेफर किया जाता है या फिर कई लोग झाड़फूंक अंधविश्वास के चक्कर में इलाज कराकर अपनी जान गवा देते है।एक सप्ताह के भीतर एक मामला सामने भी आया है।जिसमें सांप के डसने पर महिला का गांव में ही झाड़फूंक से इलाज कराया गया। जब महिला ठीक नहीं हो पाई तो अस्पताल लाया गया।

झाड़फूंक के चक्कर में चार घंटे लेट महिला को लाए अस्पतालः चांगोटोला थाना के ग्राम बटवा में घर की जमीन पर सोई एक 45 वर्षीय महिला को सांप ने डस दिया।स्वजनों द्वारा अस्पताल ले जाने की बजाय झाड़फूंक से इलाज कराया गया।ऐसे में सियाबाई पति नंदकिशोर विश्वकर्मा 45 वर्ष की मौत हो गई।घटना के संबंध में मिली जानकारी के अनुसार शनिवार की रात करीब एक बजे सियाबाई विश्वकर्मा को सांप ने डस दिया था।उसके बाद में उसकी हालत गंभीर होता देख स्वजनों के द्वारा उसे पहले अस्पताल में लाकर भर्ती कराने के बजाय ग्राम में झाड़फूंक करने वाले को घर में बुलाया गया।झाड़फूंक के बाद एक घंटे तक महिला ठीक रही।जिससे ज्यादा हालत बिगड़ने पर रविवार की सुबह करीब पांच बजे जिला अस्पताल में लाकर भर्ती कराए थे।महिला ने सुबह 10 बजे दम तोड़ दिया।

28 वर्षीय महिला की सर्पदंश से मौतः चांगोटोला थाना अंतर्गत मोहगांव में एक 28 वर्षीय महिला की सर्पदंश से मौत हो गई।पुलिस ने सूचना मिलने पर ग्राम मोहगांव निवासी बसंती भलावी का शव बरामद किया।पुलिस ने बताया कि बसंती को जहरीले सांप ने डस दिया था जिससे उसकी मौत हो गई।पुलिस ने शव का पंचनामा कार्रवाई पूरी की।शव का पोस्टमार्टम कराकर स्वजनों को सौंप मर्ग कायम किया है।

जमुनिया में सांप के डसने से युवती की मौतः बिरसा थाना अंतर्गत पुलिस चौकी सालेटेकरी के ग्राम जमुनिया में छतरला पिता केसर चौधरी 25 वर्ष की सर्पदंश से मौत हो गई।पुलिस ने बताया कि छतरला चौधरी अपने घर की बाड़ी में काम कर रही थी। तभी उसे जहरीले सांप ने हाथ में डस दिया था।जिससे उसकी मौत हो गई।पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराकर स्वजनों को सौंप मर्ग कायम किया गया।

इनका कहना

बारिश का मौसम प्रारंभ होने से सर्पदंश की घटना आकस्मिक हो जाती है।सरकारी अस्पताल में स्नेक वेनम उपलब्ध कराए गए है।सांप के डसने पर आहत व्यक्ति को तत्काल अस्पताल लेकर आना चाहिए।जिससे समय पर इलाज होने पर जान बचाई जा सके।सर्पदंश की घटना होने पर झाड़फूंक के चक्कर में लोग न जाए और ना ही गांव में जड़ी बुटियों से इलाज कराए।

डा. मनोज पांडेय, सीएमचएचओ बालाघाट।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close