माही महेश चौहान बालाघाट

जिला मुख्यालय में शहीद भगत सिंह जिला अस्पताल का संचालन किया जा रहा है। 500 बेड के संचालित इस अस्पताल में जिले के साथ ही सिवनी जिले से भी लोग उपचार कराने पहुंचते है, लेकिन कौन सी बीमारी की ओपीडी कहां है और कौन सा चिकित्सक उनका उपचार करेंगा इस बात की जानकारी मरीज को न होने के कारण उसे ओपीडी व चिकित्सक की तलाश के साथ ही जांच के लिए परेशान होना पड़ता है और कई बार तो त्वरित उपचार की आस में मरीज निजी अस्पताल भी चले जाते है। मरीजों की इस समस्या का समाधान करने के लिए अस्पताल प्रबंधन कवायद करता नजर आ रहा है और एक हेल्प डेस्क का निर्माण कर रहा है।

पर्ची से लेकर चिकित्सक की सुविधा उपलब्ध कराएगी हेल्प डेस्कः जिला अस्पताल के आरएम डा. अरुण लांजेवार ने बताया कि उनके कक्ष को ही हेल्पडेस्क बनाया जा रहा है जिससे की जिला अस्पताल के अंदर प्रवेश करते ही मरीज व उसके परिजन को किसी प्रकार की परेशानी न हो। उन्होंने बताया कि हेल्पडेस्क में मदद के लिए मौजूद टीम मरीज की ओपीडी व भर्ती पर्ची बनाने से लेकर उसे कौन से चिकित्सक के पास तक पहुंचाना है इसकी जानकारी उपलब्ध कराने के साथ ही उसे ओपीडी तक पहुंचाने का कार्य करेगी। इतना ही नहीं त्वरित उपचार के लिए मिलने वाले स्ट्रेचर, वीलचेयर भी हेल्प डेस्क में उपलब्ध होगा।

रोजाना पहुंचते है 500 से अधिक मरीजः जिला अस्पताल में रोजाना ग्रामीण क्षेत्रों से सड़क दुर्घटना, बीमारी, जहर, वन्यप्राणियों के हमले से घायल, गायनिक से संबंधित समस्या से पीडित महिलाएं, प्रसूताएं, बच्चे, एक्स-रे, सोनोग्राफी, जांच समेत अन्य समस्याओं से पीड़ित लोग पहुंचते है। ऐसी स्थिति में रोजाना 500 से अधिक मरीजों की ओपीडी पर्ची बनाकर उनका उपचार किया जाता है। जिनमें से 300 से लेकर 350 मरीजों को भर्ती कर उपचार किया जाता है।कई बार मरीजों को जानकारी न होने पर भटकना पड़ जाता है ऐसे हेल्प डेस्क का निर्माण होने की स्थिति में इन मरीजों को त्वरित व सुविधाजनक उपचार मिल सकेगा और भटकना नहीं पड़ेगा।

इनका कहना......

जिला अस्पताल में उपचार के लिए पहुंचने वाले मरीजों को ओपीडी, चिकित्सक, जांच कक्ष समेत अन्य सुविधाओं के लिए भटक कर उन्हें परेशान न होना पड़े। इसके लिए हेल्प डेस्क का निर्माण किया जा रहा है जिसकी समस्त तैयारियां पूर्ण कर ली गई है। हेल्प डेस्क का संचालन शुरु होते ही मरीजों को त्वरित व सुविधाजनक उपचार मिल सकेगा।

-डा. संजय धबड़गांव, सिविल सर्जन, शहीद भगत सिंह जिला अस्पताल।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close