Balaghat News : बालाघाट, वारासिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। वारासिवनी थाना क्षेत्र अंतर्गत वारासिवनी से कटंगी मुख्य मार्ग पर ग्राम धानीटोला बुदबुदा में हनुमान मंदिर के सामने बुधवार की सुबह आठ बजे एक तेज रफ्तार पिकअप वाहन ने साइकिल सवार युवक को टक्कर दी और सौ मीटर की दूरी पर जाकर सड़क किनारे पलट गया।जिससे युवक की मौत हो गई।घटना के बाद वाहन चालक मौके से फरार हो गया।आक्रोशित ग्रामीणों ने मृतक के परिजनों को मुआवजा व ब्रेकर लगाए जाने की मांग को लेकर सड़क पर धान की बोरियां रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया।इधर, प्रदर्शन की जानकारी लगने पर मौके पर पहुंची पुलिस ने समझाने का प्रयास किया गया, लेकिन प्रदर्शनकारियों की मांग है कि जब तक सड़क पर ब्रेकर नहीं लगाए जाएंगे और मृतक के परिवारों को मुआवजा नहीं मिल जाता है यह प्रदर्शन जारी रहेगा।

सड़क पार कर रहा था युवक

जानकारी के अनुसार पंकज पिता विजय फुलबांधे 18 वर्ष निवासी ग्राम धानीटोला बुदबुदा है,जिसका वारासिवनी से कटंगी मार्ग पर गांव में ही सड़क किनारे सैलून दुकान है।रोज की तरह बुधवार को सुबह आठ बजे दुकान खोला था और साइकिल से आवश्यक कार्य के चलते सड़क पार कर रहा था।इसी दौरान कटंगी से वारासिवनी की ओर धान के बोरे भरकर जा रहे पिकअप वाहन क्रमांक सीजी 04 जे 3403 के चालक ने लापरवाही पूर्वक वाहन चलाते हुए टक्कर मार दिया।टक्कर मारने के बाद पिकअप वाहन भी पलट गया।ग्रामीणों ने घटना के बाद सड़क पर पिकअप से बोरियाें को निकालकर सड़क पर रख दिया और ब्रेकर और मुआवजा दिलाए जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन प्रारंभ कर दिया।प्रदर्शन के दौरान सड़क के दोनों ओर जाम लग गया।

ब्रेकर के अभाव में हो रही घटना

प्रदर्शनकारियों ने बताया कि बुधवार को जहां पर पिकअप की टक्कर से पंकज फूलबांधे की मौत हुई है वहां पर एक साल के भीतर छह से अधिक सड़क घटनाएं हो चुकी है।यहां पर ब्रेकर के अभाव में वाहन तेज गति से निकलते है।उनकी मांग है कि इस जगह पर ब्रेकर लगवाना चाहिए ताकि वाहन की गति कम होने से दुर्घटनाओं पर अंकुश लग सके।

इनका कहना

पिकअप वाहन ने सड़क पार कर रहे एक साइकिल युवक को टक्कर मार दी।जिससे युवक की मौत हो गई।ग्रामीणों द्वारा ब्रेकर व मृतक के परिजनों को मुआवजा दिलाए जाने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे है।मौके पर पुलिस तैनात है।समझाने का प्रयास किया जा रहा है।

शंकर सिह चौहान, थाना प्रभारी, पुलिस थाना वारासिवनी।

Posted By: Jitendra Richhariya

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close