बालाघाट, नईदुनिया प्रतिनिधि। पूर्व मंत्री एवं आयोग अध्यक्ष, बालाघाट विधायक गौरीशंकर बिसेन ने पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ को खुली चुनौती दी है। गुरुवार को मलाजखंड के मोहगांव में नगरपालिका परिषद चुनाव के प्रत्याशियों के लिए आयोजित जन आशीर्वाद सभा को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री एवं आयोग अध्यक्ष ने कहा, मैं चुनाव नहीं लडूंगा, मां का दूध पिया है तो वह बालाघाट विधानसभा क्रमांक 111 से विधानसभा चुनाव लड़कर दिखाएं, वह एक कार्यकर्ता को खड़ा करेंगे, जिससे कमलनाथ जीतकर दिखाएं। उन्होंने कहा कि कमलनाथ विकास की बात करते हैं, विकास के नाम पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने घर भरने का काम किया है। वे यहीं नहीं रुके, बल्कि उन्होंने कहा कि यदि पार्टी ने उन्हें लोकसभा में प्रत्याशी बनाया तो छिंदवाड़ा में सांसद नकुलनाथ और कमलनाथ को हराकर ही वह चैन से बैठेंगे।

भले ही पूर्व मंत्री एवं आयोग अध्यक्ष, बालाघाट विधायक, बालाघाट विधानसभा से चुनाव ना लड़ने की मंशा को कई बार जाहिर कर चुके हैं, लेकिन जिस तरह से उन्होंने जन आशीर्वाद सभा में पार्टी पर लोकसभा चुनाव में उन्हें प्रत्याशी बनाने का फैसला छोड़ा है, उससे लगता है कि अब गौरीशंकर बिसेन की महत्वाकांक्षा विधानसभा नहीं, बल्कि एक बार फिर सांसद बनकर लोकसभा में जाने की है।

गुरुवार को मलाजखंड में चुनावी सभा में पहुंचे गौरीशंकर बिसेन ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की अनुपस्थिति में कमलनाथ को ये बात कही है। इससे जुड़ा एक वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल होते ही एक बार फिर जिले की सियासत गरमा गई है। सियासत गरमाने की बड़ी वजह यह है कि इससे पहले तक लगभग हर कार्यक्रम में गौरीशंकर बिसेन स्वयं और उनके परिवार के किसी भी सदस्य के चुनाव नहीं लड़ने की बात कहते आए हैं। उनके इस तरह बयान से यह जाहिर हो रहा है कि स्वयं तो लोकसभा चुनाव लड़ने का इरादा रखते ही हैं।

मौसम खराब होने के कारण नहीं पहुंच सके थे मुख्यमंत्री

वायरल वीडियो में मलाजखंड की चुनावी सभा का है। 22 सितंबर को हुई इस सभा में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को आना था लेकिन खराब मौसम के कारण नहीं पहुंच सके थे।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close