बालाघाट/परसवाड़ा (नईदुनिया प्रतिनिधि)। वन परिक्षेत्र पश्चिम बैहर के ग्राम खरपड़िया में बुधवार पूर्वान्ह 11 बजे जंगल से भटककर तेंदुए का शावक गांव में घुस गया। शावक को गांव में विचरण करते हुए देख ग्रामीणों ने वन विभाग को सूचना दी।

वन विभाग की टीम ने शावक का रेस्क्यू कर उसे देवी मंदिर के पास पिंजरे में कैद कर लिया। इधर, शारदेय नवरात्र होने के कारण और गांव में अचानक तेंदुए का शावक आने से लोग पूजा की थाली सजाकर पिंजरे के पास पहुंचे और पूजा-अर्चना करने लगे।

करीब आधा घंटे तक पूजा-अर्चना का दौर चलता रहा। सहायक परिक्षेत्र अधिकारी तीरजून सिंह मेरावी ने बताया कि खरपड़िया गांव का जंगल कान्हा नेशनल पार्क के कारीडोर से जुड़ा हुआ है। जिसके चलते वन्यप्राणी कभी-कभार जंगल से विचरण करते हुए गांव में प्रवेश कर जाते हैं।

बुधवार को भी पूर्वान्ह 11 बजे तेंदुए का शावक गांव में पहुंंच गया। इसकी सूचना मिलने पर तत्काल वन परिक्षेत्र अधिकारी कृष्ण कुमार मेरावी सहित अन्य अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पहुंचे। इन्होंने आधा घंटे तक रेस्क्यू कर शावक को पिंजरे में कैद कर लिया।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close