बालाघाट (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले के बहेला थाना क्षेत्र के ग्राम कंदला के जंगल में पुलिस व नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में मारे गए दड़ेकसा दलम के कमांडर इन चीफ नागेश के साथ ही माओवादी संगठन के बड़े लीडर भी शामिल थे, जो तीन नक्सलियों के मारे जाने पर स्वयं को पुलिस से घिरता देख घने जंगल और अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गए है। जिनकी जंगल में पुलिस अलग-अलग टीम बनाकर तलाश कर रही है। वहीं आज 21 जून को पुलिस ने जिला अस्पताल में तीन नक्सलियों के शवों का पोस्टमार्टम कराया है। हालांकि पुलिस के द्वारा पोस्टमार्टम के दौरान मीडिया को कवरेज नहीं करने दिया गया है।

मुठभेड़ में नक्सलियों के ये बड़े लीडर थे शामिलः जंगल में पुलिस व नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में प्रतिबंधित सीपीआई माओवादी संगठन के सक्रिय सदस्य एमएमसी जोन के जीआरबी डिवीजन के एसजेडसीएम राजेश उर्फ दामा, मलाजखंड दलम के डीवीसीएम विकास नगपुरे, दड़ेकसा दलम के डीवीसीएम देवचंद उर्फ चंदू उम्र करीब 48 वर्ष, नागेश उर्फ राजू तलावी, एरिया कमेटी कमांडर रानो उम्र करीब 27 वर्ष, संगीत उम्र करीब 21 वर्ष, एरिया कमेटी के डिप्टी कमांडर रोशन उम्र करीब 35 वर्ष, एसीएम मनोज 23 वर्ष, सिंधु गावड़े, कान्हा भौरमदेव एरिया कमेटी के प्रभारी एसजेडसीएम सुरेन्द्र उर्फ कबीर उम्र करीब 48 वर्ष, एरिया कमेटी के सदस्य सिंगा, रुपेश,रामे, खटियामोचा एरिया कमेटी की कमांडर ज्योति, विस्तार प्लाटून दो की डीवीसीएम साजंती उर्फ क्रांति, विस्तार प्लाटून तीन के डीवीसीएम राकेश होडी समेत अन्य नक्सली शामिल थे।

पुलिस ने इन धाराओं के तहत किया अपराध दर्जः बहेला थाना पुलिस ने 12 नामजद नक्सली समेत अन्य नक्सलियों के विरुद्ध अपराध धारा 147, 148, 149, 307, भादवित तथा 25 ,26 आयुध अधिनियम, 13, 1, ए, विधि विरुद्ध क्रिया कलाप निवारण अधिनियम, 13, 1,बी, विधि विरुद्ध क्रिया कलाप निवारण अधिनियम, 4, 5, विस्फोटक अधिनियम के तहत अपराध दर्ज कर मामले को विवेचना में लिया है।

इन नक्सलियों के शवों का कराया पोस्टमार्टमः पुलिस मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों में नागेश उर्फ राजू तुलावी उम्र 38 वर्ष निवासी बोटेझरी गढ़रिचौली महारार्ष्ट निवासी है, जो दड़ेकसा दलम में डीवीसीएम कमांडर इन चीफ था और इस पर मध्यप्रदेश में 6 लाख, महाराष्ट्र में 16 लाख व छत्तीसगढ़ में आठ लाख इस तरह इस पर तीनों राज्यों में 29 लाख का ईनाम घोषित था इसके पास से पुलिस ने एसएलआर रायफल जप्त की है। वहीं मनोज 23 साल निवासी बस्तर निवासी दडेकसा दलम में एरिया कमेटी सदस्य था और इसके उपर मध्यप्रदेश में तीन लाख, महाराष्ट्र में छह लाख व छत्तीसगढ़ में पांच लाख इस तरह कुल 14 लाख का ईनाम घोषित था और इसके पास से पुलिस ने एसएलआर रायफल जप्त की है। इसी प्रकार रामे दक्षिण बस्तर सुकमा निवासी है, जो कान्हा भौरमदेव में एरिया कमेटी व सुरेन्द्र उर्फ कबीर एसजेडसीएम गार्ड थी और इस पर मध्यप्रदेश में तीन लाख, महारार्ष्ट में छह लाख व छत्तीसगढ में पांच लाख कुल 14 लाख का ईनाम घोषित था और इसके पास से पुलिस ने सिंगल शॉट रायफल जप्त की है। इन तीनों के शवों का पुलिस ने आज पोस्टमार्टम कराया है और शवों को उनके परिजनों को सौंपने के लिए परिजनों से बातचीत करने का प्रयास कर रही है।

इनका कहना

मुठभेड़ में मारे गए नक्सलियों के शवों का पोस्टमार्टम कराने की प्रक्रिया को पूर्ण किया गया है, उनके परिजनों की शिनाख्त कर ली गई है और पुलिस से संपर्क किया जा रहा है। वहीं जिले में सक्रिय व मुठभेड़ के दौरान मौजूद नक्सलियों की भी शिनाख्त कर ली गई है और उनके विरुद्ध विभिन्ना धाराओं के तहत अपराध दर्ज कर मामले को विवेचना में लिया गया है। वहीं जंगल में सर्चिंग कर उनकी तलाश की जा रही है।

-समीर सौरभ, पुलिस अधीक्षक, बालाघाट।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close