कटंगी (नईदुनिया न्यूज)। गांवों में जानकारी के अभाव में स्वजन नाबालिगों का विवाह करवाने तैयार हो जाते है। ऐसे में विवाह होने के बाद कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। एक ऐसा ही मामला कटंगी तहसील के ग्राम कटेरा में सामने आया है। जिसमें एक नाबालिग का विवाह समीप के ग्राम चौखंडी में तय कर दिया गया था। जिसकी जानकारी महिला एवं बाल विकास विभाग परियोजना अधिकारी पुष्पेंद्र रानाड़े को मिलने पर टीम के साथ मौके पर पहुंचे और नाबालिग का विवाह होने से रोका गया। इस दौरान नाबालिग के स्वजनों को बाल विवाह निषेध अधिनियम 2006 के तहत जानकारी दी गई।

17 जून को होने वाला था विवाहः पुलिस थाना कटंगी अंतर्गत आने वाले ग्राम कटेरा में 17 जून को एक बाल विवाह संपन्ना होना था। जिसकी सूचना मिलने पर एक दिन पूर्व यानी 16 जून को महिला एवं बाल विकास विभाग परियोजना अधिकारी पुष्पेंद्र रानाड़े ने इस बाल विवाह को स्थगित करवाया दिया है। उन्होंने स्वजनों को समझाइश दी की बाल विवाह कानूनी तौर पर अपराध है। बाल विवाह निषेध अधिनियम 2006 के तहत अगर कोई भी व्यक्ति इसका दोषी पाया जाता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाती। अधिकारी की समझाइश पर परिवार वालों ने विवाह को स्थगित कर बालिका के 18 वर्ष पूर्ण होने पर ही विवाह करने की सहमति दी है। बालिका का विवाह चौखंडी के युवक से होना तय हुआ था। बालिका का विवाह को स्थगित कर दिया गया है। इस कार्रवाई के दौरान पर्यवेक्षक सरला भोर, शौर्यादल अध्यक्ष रत्नमाला पटले, भूतपूर्व जनपद सदस्य मनोज पालीवाल, एएनएम एस रांहगडाले, एमपीडब्ल्यू डीपी रांहगडाले, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता पवनदेवी पटले, उमा सोनी उपस्थित रही।

बाल विवाह कराने पर दो साल की सजा का प्रावधानः जानकारी के अनुसार यदि कोई व्यक्ति किसी भी बाल विवाह में सहायता करता है आचरण करता है निर्देशित करता है या उसका पालन करता है तो उसे दो वर्ष के कठोर कारावास या एक लाख रुपये या दोनों का जुर्माना हो सकता है। इसके लिए बाल विवाह करने से बचना चाहिए। साथ ही इसकी जानकारी अन्य लोगों को देकर जागरूक करना चाहिए ताकि लोग बाल विवाह कराने से बच सके।

नाबालिगों का विवाह न कराए। लकड़ी की उम्र 18 वर्ष और लड़के की उम्र 21 वर्ष पूर्ण होने पर ही विवाह कराए। यदि आपके आसपास कोई भी स्वजन नाबालिग को विवाह करवाते है तो इसकी जानकारी देवे। बाल विवाह करवाना कानूनी अपराध है।

पुष्पेंद्र रानाड़े, महिला एवं बाल विकास विभाग परियोजना कटंगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags