बालाघाट, नईदुनिया प्रतिनिधि। बालाघाट के जंगल में नक्सलियों ने भाकपा का स्थापना दिवस मनाने को लेकर जंगल में नक्सली बैनर को बांधकर ग्रामीणों को बरगलाने का प्रयास किया है। यह वारदात नक्सलियों ने पाथरी चौकी के अंमर्गत आने वाले गांव अडोरी समेत अन्य गांवों में की है हालांकि नक्सली उन्मूलन के लिए पहले से ही जंगल में तैनात पुलिस को इस वारदात की जानकारी लगते ही पुलिस ने सुरक्षा इंतजामों के साथ मौके पर पहुंचकर नक्सली पर्चे व बांधे गए बैनर को जप्त कर नक्सलियों के विरुद्ध कार्रवाई कर उनकी जंगल में तलाश के लिए सर्चिंग तेज कर दी है।

स्थापना दिवस को मनाने बांधा बैनर

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि सितंबर 2004 में नक्सलियों ने भाकपा माओवादी की स्थापना की थी और इसकी 18 वीं वर्षगांठ को मनाने के लिए ही बैनर को बांधा है। उन्होंने बताया कि नक्सली ग्रामीणों को इस तरह की कायराना हरकत कर भ्रमित करने का प्रयास करते है, लेकिन लगातार ग्रामीणों संवाद कर रहे जिला प्रशासन व पुलिस के कारण ग्रामीण भी अब नक्सलियों के झूठे बहकावे में नहीं आते है। जिसकी ही ये परिणाम है कि पुलिस ने त्वरित कार्रवाई कर बैनर व पर्चो को जप्त कर लिया है।

मध्यप्रदेश,महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ कमेटी ने बांधा बैनर

पाथरी चौकी अंतर्गत अडोरी समेत अन्य गांवों में व रास्ते पर मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़ जोनल कमेटी ने नक्सली बैनर को बांधने के साथ ही नक्सली पर्चो को फेंका है। जिसमें उन्होंने संस्थापक चारु मजूमदार का नाम लिखकर अन्य मारे गए नक्सलियों का बदला लेने व दमनकारी नीतियों को विरोध कर दलम में शामिल होने की बात ग्रामीणों से कहीं है।

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close