सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। मुख्य सड़कों और शहर के विभिन्न चौक-चौराहों को रोशन करने नगर पालिका परिषद द्वारा हाइमास्ट सहित एलइडी स्ट्रीट लाइट शहरी क्षेत्र में लगाये गये हैं। मानसून की तेज बारिश ने अभी जोर नहीं पड़ा है, लेकिन इससे पहले ही नगर के अधिकांश क्षेत्रों की स्ट्रीट लाइट बंद होने से आमजनों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। जबकि शहर के हर नागरिक से प्रकाश व्यवस्था के बदल कर (टैक्स) वसूला जा रहा है। हैरानी की बात यह है कि बंद स्ट्रीट लाइटों को नगर पालिका द्वारा चालू बता रही है। वहीं शहर के विभिन्ना वार्ड के बिजली के खंबों पर एलइडी ट्यूब लाइट व चौक चौराहे पर हाइमास्क लाइट लगाये गये हैं, जिनमें से अधिकांश बंद पड़े है। मुख्य सड़कों पर अंधेरा रहने के कारण बारिश के दौरान जहां हादसों की संख्या बढ़ गई है।वहीं रहवासी क्षेत्रों में लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

प्रकाश व्यवस्था बदहालः शहर में मानसून ने दस्क दी है हालाकि अभी मानसून के तीन माह बाकी है।जोरदार बारिश से पहले ही नगर पालिका की प्रकाश व्यवस्था बदहाल हालत सामने आ गई है।

अंधेरी सड़कों पर मवेशियों का डेराः छिंदवाड़ा चौक से बम्होड़ी बायपास तक दर्जनों खबों में स्ट्रीट लाइट को लगी है, लेकिन कई महीनों से स्ट्रीट लाइट बंद पड़ी है।यहीं हाल नागपुर रोड रेलवे क्रासिंग से कृषि विज्ञान केंद्र तक लगाये गये स्ट्रीट लाइट के खंबों का है।शहर के सौंदर्यीकरण के तहत जनवरी 2020 में नागपुर रोड पर एलइडी स्ट्रीट लाइट लगाये गये थे, लेकिन अधिकांश स्ट्रीट लाइट बंद पड़े हैं।दोनों अंधेरी सड़कों पर सुबह-शाम मवेशियों का डेरा रहता है।मुख्य सड़क होने की कारण वाहनों का दबाव भी दोनों सड़कों पर सबसे ज्यादा होता है ऐसे में कई वाहन चालक अंधेरे के कारण मवेशियों को नहीं देख पाते और हादसे का शिकार बन जातो हैं। पिछले साल ऐसी कई घटनाएं हो चुकी है।इसके बावजूद नगर पालिका परिषद द्वारा इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।जन उपयोगी लोक अदालत द्वारा हाल ही में इस मामले पर संज्ञान लेने के बाद क्षेत्र की कुछ स्ट्रीट लाइट को सुधारने का दावा किया गया था, लेकिन वर्तमान में स्थिति फिर से जस की तस हो गई है।

भैरोगंज के रहवासी परेशानः शहर के उपनगरीय क्षेत्र भैरोगंज के महाराज बाग, फैशन चौक, मुंगवानी रोड के ट्यूब लाइट की दूधिया रोशनी बुझने से क्षेत्र अंधेरे में डूब गया है। शहर के महामाया वार्ड के ट्यूब लाइट की दुधिया रोशनी भी बारिश में बुझ गई है। हाल यह है कि शाम ढलते ही शहर का चौक-चौराहा और मोहल्ला अंधेरे में डूब जाता है।क्षेत्र दिनेश ठाकुर, शरद मिश्रा, मुकेश दुबे, सुनील अग्रवाल, विकास अग्रवाल, मंगल बघेल सहित अन्य ने बताया कि, क्षेत्र में अंधेरा रहने से बहुत से बरसाती कीड़े नाली से बाहर निकल कर सड़क पर आ रहे है, जो कि स्थानीय नागरिकों के लिए परेशानी का सबब बने हुए हैं।

गड्ढों में भरे पानी से बचना मुश्किलः वार्ड की सड़क के भी बुरे हाल है।खस्ताहाल सड़क के गड्ढों में बारिश का पानी जमा हो जाता है।ऐसे में नागरिकों को सड़कों पर गड्ढों से बचकर चलना पड़ता है।स्ट्रीट लाइट बंद होने से कई बार लोग गड्ढे में पहुंच जाते हैं।दुर्घटना की आशंका बढ़ जाती है।फैशन चौक में स्थित पुलिया में थोड़ी सी बारिश में पूरा कीचड़ सहित बहुत से बरसाती कीड़े सड़क पर आ रहे है।स्थानीय नागरिकों ने स्ट्रीट लाइट का सुधार कार्य कराने की बात एमपीइबी, नगर पालिका से कही है।लेकिन चार दिनों बाद भी स्थिति जस की तस बनी हुई है।नगर पालिका के कर्मचारियों का कहना है कि, स्ट्रीट लाइट में सुधार कार्य कराया जा रहा है, जल्द चालू कर दिया जाएगा।

सीएमओ ने शहर के जलभराव क्षेत्रों का लिया जायजा

फोटो 2 जलभराव होने वाले संभावित क्षेत्रों का जायजा लेती सीएमओ।सौजन्य नगर पालिका

सिवनी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में जलभराव वाले इलाकों की सुध लेना नगर पालिका अमला ने शुरू कर दिया है।कलेक्टर डा. राहुल हरिदास फटिंग के आदेश के बाद अतिवर्षा से जलभराव व नगरीय क्षेत्र में फैली गंदगी का निरीक्षण व निराकरण करने सीएमओ पूजा बुनकर, प्रभारी सहायक यंत्री संतोष तिवारी और स्वच्छता अधिकारी विकास मेहरा ने महावीर वार्ड, सीवी रमन वार्ड, भैरोगंज, दलसागर तालाब, उत्कृष्ट विद्यालय के सामने जलभराव की स्थिति व विभिन्ना स्थानों में फैली गंदगी का निरीक्षण कर जायजा लिया। सफाई अमले को त्वरित सफाई करने के निर्देश सीएमओ व अधिकारियों ने दिए हैं।सीएमओ बुनकर ने स्वच्छता नोडल अधिकारी विकास मेहरा को कारण बताओ नोटिस जारी कर 24 घंटे में जवाब मांगा है।दलसागर तालाब की अच्छे से सफाई नहीं किए जाने व अन्य स्थानों से मिल रही गदंगी की शिकायतों को लेकर मेहरा को नोटिस जारी किया गया है। जलप्रदाय की लगातार मिल रही शिकायत के चलते लाइनमैन कुंदन सिंह बघेल का वार्ड परिवर्तन कर दिया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close