बालाघाट, नईदुनिया प्रतिनिधि। जिले में लगातार तीन दिन हुई वर्षा से नदी नाले उफान पर हैं। वर्षा का पानी कई गांवों के घरों में घुस गया। इसका सबसे ज्यादा असर लांजी क्षेत्र में देखने को मिला है। इधर, अत्यधिक वर्षा से आई बाढ़ की वजह से मंगलवार को भी धापेवाडा के सोनबिहरी नाले के पुल पर पानी है। चांगोटोला के पास मनकुंवर नाले पुल क्षतिग्रस्त होने से बालाघाट से नैनपुर मार्ग बंद है। इससे वाहनों के पहिए थमे हुए है।

नदियों का नहीं हुआ जल स्तर कम

तीन दिन की लगातार वर्षा की वजह से वैनगंगा, बावनथड़ी, देव, बाघ, तन्नौर नदी, सोन नदी, बंजर नदी में जल स्तर अभी भी बढ़ा हुआ है। इसके चलते नालों का जल स्तर कम नहीं होने से कई मार्ग बंद है।

उमरी गांव के लोगों को स्कूल में बितानी पड़ी रात

लगातार वर्षा होने से लांजी के उमरी गांव में पानी घुस गया था, जिसके कारण 150 से अधिक लोगों को स्कूल में रात बितानी पड़ी। हालांकि मंगलवार को सुबह से वर्षा नहीं हुई है।

बालाघाट में लगातार तीन दिन हुई वर्षा से 34 मकान क्षतिग्रस्त

बालाघाट जिले में लगातार हुई 3 दिन वर्षा से मिट्टी वाले मकान क्षतिग्रस्त हो गए हैं। लालबर्रा तहसील के ग्राम कंजई में 4, भंडामुर्री में 3, टेंगनी में 5, सालेबर्री में 2, धरपीवाड़ा में 2, मरेरा में 3, बहियाटिकुर में 3, खुरपोड़ी में 5 और गारापुरी में 2 मकान क्षतिग्रस्त हुए है। ग्राम मोहगांव (बो) में 2 मकानों की दीवार गिरने से बकरियां मर गई है। गणेशपुर में 3 मकान क्षतिग्रस्त हुए हैं।

Koo App
नर्मदापुरम और जबलपुर संभाग में लगातार तेज बारिश के कारण नर्मदा और बेतवा में जलस्तर बढ़ रहा है। हम निरंतर वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बांधों में जलभराव की स्थिति की समीक्षा कर नियंत्रित तरीक़े से गेट खोलकर नर्मदा और बेतवा के जलस्तर को सामान्य रखने का प्रयास कर रहे हैं। मेरी सभी नागरिकों से अपील है कि ज़िला प्रशासन के द्वारा जिन निचली बसाहट के गांवों और बस्तियों को ख़ाली कर सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी जाये, उसका पालन अवश्य करें।
- Shivraj Singh Chouhan (@chouhanshivraj) 16 Aug 2022

Koo App
प्रदेश में लगातार हो रही वर्षा से उत्पन्न स्थिति की समीक्षा की और निरंतर स्टेट सिचुएशन रूम के संपर्क में हूं। आज प्रात: मुख्य सचिव, एसीएस राजेश राजौरा सहित संबंधित जिलों के कलेक्टर्स से फोन पर चर्चा की है। आज प्रात: कमिश्नर नर्मदापुरम, कलेक्टर नर्मदापुरम रायसेन, विदिशा, भोपाल, सीहोर से फोन पर आवश्यक निर्देश दिए हैं। लगातार बारिश के कारण बरगी, बारना, तवा डैम के गेट खोलने के कारण नर्मदा नदी का जल स्तर बढ़ा है। हम डैम से रेगुलेट कर पानी छोड़ रहे हैं, जिससे कोई अप्रिय स्थिति ना बने।
- Shivraj Singh Chouhan (@chouhanshivraj) 16 Aug 2022

Koo App
प्रदेश में कल से भारी वर्षा हो रही है और आज भी कई जिलों में भारी वर्षा की संभावना है। कल से भोपाल, विदिशा, नर्मदापुरम्, अशोकनगर, गुना, सागर और विशेषकर नर्मदा जी के कैचमेंट एरिया में मण्डला, डिण्डोरी से जबलपुर, हरदा, नर्मदापुरम से लेकर सीहोर और रायसेन तक भी काफी बारिश हुई है। नर्मदा जी का जलस्तर खतरे के निशान को छू रहा है। हमारा हरसंभव प्रयास है कि हम इन बांधों से पानी नियंत्रित तरीके से निकालें और बाढ़ की स्थिति निर्मित ना हो। - Shivraj Singh Chouhan (@chouhanshivraj) 16 Aug 2022

Koo App
चूंकि आज भी भारी वर्षा की संभावना है, इसलिए जलस्तर काफी बढ़ने की संभावना है। मेरा सभी प्रभावित जिलों के भाई बहनों से निवेदन है कि सावधानी जरूर रखें। मैं स्थिति पर लगातार नजर रखे हुए हूं, सभी जिलों के कलेक्टर और एसपी मेरे संपर्क में है। जहां पानी ज्यादा बढ़ने की संभावना है, वहां एसडीआरएफ की टीम भेज दी गई हैं।
- Shivraj Singh Chouhan (@chouhanshivraj) 16 Aug 2022

Koo App
मैं एक ही आग्रह करना चाहता हूं कि आप प्रशासन की बात जरूर मानें और प्रशासन अगर ऊंचे स्थानों पर जाने को कहे तो कृपा करके ऊंचे स्थानों पर जाएं। एक बात और ध्यान रखें कि जब आप जाएं, तो मूक पशुओं को खोल कर उनको भी साथ ले जाएं। आपकी जिंदगी हमारे लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। हमारा हरसंभव प्रयास होगा कि स्थिति विकट ना बने, लेकिन आपके सहयोग की आवश्यकता है। मैं निरंतर हर जिले में बात कर रहा हूं तथा स्थिति पर नजर रखे हुए हूं। सरकार तथा प्रशासन आपके साथ हैं।
- Shivraj Singh Chouhan (@chouhanshivraj) 16 Aug 2022

Posted By: Mukesh Vishwakarma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close