बालाघाट (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ग्राम कंदला के जंगल में पुलिस व नक्सलियों के बीच हुई मुठभेड़ में मारे गए नक्सली नागेश के शव को लेने आज 25 जून को उसके स्वजन सोनसाय पिता बुद्धु तुलावी 57 वर्ष समेत अन्य बालाघाट मुख्यालय पहुंचे, जहां जिला अस्पताल परिसर में पुलिस की मौजूदगी में पंचनामा कार्रवाई कर शव को उनको सौंपा गया। जिसके बाद पुलिस सुरक्षा के साथ शव को उसके गांव स्वजन के हाथों भिजवा गया है।

29 लाख का ईनामी था नागेशः पुलिस अधीक्षक समीर सौरभ ने बताया कि मुठभेड़ मारा गया नक्सली नागेश उर्फ राजू तुलावी 38 वर्ष बोटेझरी ग्यारहपत्ती गढ़चिरौली निवासी दड़ेकसा दलम का कमाडंर इन चीफ था और उसके उपर मध्यप्रदेश में पांच लाख, महाराष्ट्र में 16 लाख व छत्तीसगढ़ राज्य में आठ लाख इस तरह कुल उसके उपर 29 लाख का इनाम था।

मनोज व रामे भी मुठभेड़ में मारी गई थेः पुलिस अधीक्षक ने बताया कि ग्राम कंदला के जंगल में हुई मुठभेड़ में नागेश के साथ ही दड़ेकसा दलम के एरिया कमेटी सदस्य मनोज 23 वर्ष छत्तीसगढ़ निवासी व महिला नक्सली रामे पूने कान्हा भोरमदेव दलम की एरिया कमेटी सदस्य भी मारी गई थी। जिनके शवों को पूर्व में ही उनके स्वजन ले चुके है। उन्होंने बताया कि नक्सली उन्मूलन के लिए पुलिस लगातार जंगल में सर्चिंग कर रही है।नागेश के शव को सौंपने की कार्रवाई के दौरान सीएसप अर्पूव भलावी, नगर निरीक्षक केएस गेहलोत समेत अन्य स्टाफ मौजूद रहा।

इनका कहना....

मुठभेड़ में मारे गए नक्सली नागेश के स्वजन से संपर्क करने पर वे लोग बालाघाट पहुंचकर शव को लेने पहुंचे थे। यहां कागजी कार्रवाई को पूर्ण कर उन्हें शव को सौंप दिया गया है और पूरी सुरक्षा के साथ शव को भिजवाया गया है। मुठभेड़ में मारे गए तीनों नक्सलियों के शवों को उनके स्वजन को सौंप दिया गया है। वहीं पुलिस नक्सलियों की तलाशी के लिए लगातार जंगल में सर्चिंग अभियान चला रही है।

समीर सौरभ, पुलिस अधीक्षक बालाघाट।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close