किरनापुर (नईदुनिया न्यूज)।

प्रदेश शासन द्वारा पिछले तीन माह से सोसायटियों में प्रदाय किए जाने वाले खाद्यान्ना में कटौती किए जाने के कारण अब गरीब उपभोक्ताओं को राशन प्रदान करने में जहां सोसायटियों के सेल्समैनों के सामने काफी असमंजस की स्थिति उत्पन्ना हो गई है। वहीं आम गरीब उपभोक्ताओं को राशन नहीं मिलने से उनके सामने भूखे रहने की नौबत बन पड़ रही है। एक ऐसा ही मामला सेवा सहकारी समिति मर्यादित खारा की राशन दुकान का सामने आया है। सोमवार को कार्डधारियों को सोसायटी के सेल्समैन द्वारा खाद्यान्ना का वितरण नहीं किए जाने पर वहां हंगामा मचा दिया।

सेवा सहकारी समिति मर्यादित खारा से मिली जानकारी के अनुसार निर्धारित मात्रा से खाद्यान्ना का आवंटन कम प्राप्त होने से विक्रेताओं को किसे राशन बांटे और किसे ना बांटे की समस्या से जुझना पड़ता है, क्योंकि सुबह से ही राशन लेने के लिए कार्डधारियों की भीड़ सोसायटी के सामने लग जाती है। ऐसे में राशन नहीं बांटना ही उचित समझकर कार्डधारियों को राशन का वितरण नहीं किया जा रहा है। सेवा सहकारी समिति खारा में कम आवंटन मिलने से कार्डधारियों को कम खाद्यान्ना का वितरण किया जा रहा है। ऐसे में जायज है कि कार्डधारियों को अनाज को लेकर चिंता सताने लगी है।

पूरा राशन नहीं मिलने से हो परेशानी

सेवा सहकारी समिति मर्यादित की राशन दुकान में पहुंचे कार्डधारी इंदल सोनी ने बताया कि उसे दो माह से पूरा राशन नहीं मिल पा रहा है। ऐसे में परिवार की जीविका चलाने के लिए बाजार से महंगे दाम पर अनाज खरीदकर लाना पड़ रहा है। जिसके चलते काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसी तरह कार्डधारी सूरजलाल पारधी का कहना है कि हर माह 20 किलो राशन मिलता है, लेकिन पिछले माह छह किलो ही राशन मिला है। जिसके चलते बड़ी मुश्किल हो रही है। इसके अलावा अन्य कार्डधारियों का कहना है कि उन्हें बराबर राशन मिलना चाहिए। कोरोना काल के बाद से मजदूरी बड़े मुश्किल से मिल रही है और राशन के लिए पैसे जुटाते है, लेकिन तीन माह से राशन कम मिलने से सभी लोगों की दिक्कत बढ़ गई है। उन्होंने शासन प्रशासन से समुचित राशन उपलब्ध कराए जाने की मांग की है।

इनका कहना

शासन स्तर से पिछले तीन माह से राशन कम मिल रहा है जिसे बांटने में परेशानी होती है। कुल 937 कार्डधारी है जिसें 86.5 क्विंटल गेहूं और 124 क्विंटल चावल की आवश्यकता है, लेकिन हमें 11 क्विंटल गेहूं व 60 क्विंटल चावल ही मिल रहा है। खाद्यान्ना कम मिलने की सूचना हमने उच्चाधिकारियों को भी दे दी है। मांग सूची भी दी गई, परंतु कोई विचार नहीं किया जा रहा है।

पीएस नागेश्वर, विक्रेता सरकारी उचित मूल्य की दुकान किरनापुर।

आवंटन कम आ रहा है जितना हो सकता है खाद्यान्ना बांट दे देते है। इसकी जानकारी वरिष्ठ स्तर पर दी जा चुकी है।

गणेशराम बोपचे, सेल्समैन सेवा सहकारी समिति खारा।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags