बालाघाट (नईदुनिया प्रतिनिधि)। भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव पूरे जिलेभर में 18 अगस्त को हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा। जन्मोंत्सव को लेकर गुजरी बाजार में स्थित प्राचीन कृष्ण मंदिर में तैयारियां की गई है। वहीं पूजन-सामग्री और घरों में भगवान कृष्ण की मूर्ति को विराजित करने के लिए बाजार में रौनक बढ़ गई है।

आरती के बाद किया जाएगा विशेष श्रृंगारः प्राची कृष्णमंदिर के पुजारी धुर्व शर्मा, साकेत शर्मा ने बताया कि कृष्ण जन्मष्टमी के अवसर पर भगवान कृष्ण की सुबह सात बजे आरती की जाएगी। जिसके पंचामृत से अभिषेक और श्रृंगार किया जाएगा।फिर वेदिक मंत्र व गोपाल सहस्त्र मंत्र का उच्चारण किया जाएगा और फिर भगवान के दर्शन के लिए पट खोले जाएंगे। जिसके बाद रात आठ बजे से सुदंरकाड पाठ का आयोजन किया जाएगा और रात दस बजे भजन कीर्तन व रात 12 बजे जन्मोत्सव मनाकर महाआरती की जाएगी और महाप्रसाद का वितरण किया जाएगा।

मंदिर के पुजारी ने बताया कि जिले की सबसे पहली मटकी मंदिर परिसर में भगवान के जन्मोत्सव के साथ ही फोड़ी जाती है। यह मटकी कहारी मोहल्ला की जय जवान, जय किसान समिति द्वारा मटकी फोड़कर मटकी फोड़ आयोजन की शुरुआत की जाएगी। जिसके बाद पूरे जिलेभर में मटकी फोड़ महोत्सव धूमधाम के साथ मनाया जाएगा।उन्होंने बताया कि यह कृष्ण मंदिर जिले का एकमात्र प्राचीन मंदिर जिसमें हर वर्ष की परपंरानुसार कृष्ण जन्मत्सव को हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा।

महंगाई से मूर्तिकार परेशानः भगवान कृष्ण के जन्मोंत्सव को लेकर मूर्तिकारों में भी काफी उत्साह है, लेकिन महंगाई के चलते इस वर्ष हर वर्ष की तरह उनकी बिक्री नहीं हो पाई है।जिसके चलते मूर्तिकारों में मायूसी देखने को मिल रही है। मूर्तिकार गणेश करेंडें ने बताया कि मिट्टी के साथ ही रंग-रोंगन की सामग्री के दाम बढ़ गए है जिससे पहले जो एक मूर्ति 100 रुपये में बिक्री की जाती थी उसके दाम 150 से 200 रुपये तक हो गए है। जिसके चलते ही लोग मूर्तिक को कम खरीद रहे है जिससे उनका धंधा मंदा हो गया है। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही बाजार पीओपी व साधारण कलर की मूर्तियां भी लाई जा रही है। जिससे भी उनके व्यापार में असर हुआ है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close