बालाघाट (नईदुनिया प्रतिनिधि)। वन परिक्षेत्र बिरसा दमोह के अंतर्गत दमोह बीट में कक्ष क्रमांक 1696 में औषधि वाले पौधे लगना है। इसके लिए मजदूरों के जरिए गड्ढे तैयार करवा दिए गए है। लेकिन अतिक्रमणकारी इन गड्ढों को पूरने का काम कर रहे है। वन सुरक्षा समिति सुंदरवाही के लोगों ने अतिमक्रमणकारियों पर कार्रवाई किए जाने की मांग की है। दरअसल, 225 एकड़ में 56 हजार 250 औषधि वाले पौधे लगाए जाएंगे। इन पौधों की देखरेख वन विभाग के साथ सुंदरवाही की वन सुरक्षा समिति के सदस्यों द्वारा की जाएगी। वन विभाग ने पहले चरण की तैयारी में गड्ढे खोदकर तैयार कर लिए है और चारों तरफ फेंसिंग की तैयारी की जा रही है।

वन सुरक्षा समिति सुंदरवाही के सदस्य बिसन सिंह मरकाम, सुनऊ सिंह धुर्वे, जंगल सिंह मरकाम ने बताया कि जंगल किनारे खाली पड़ी भूमि पर महुआ, कुसुम और अर्जुन समेत अन्य औषधि वाले पौधे लगाए जाएंगे। यहां लगाए जाने वाले औषधि वाले पौधे सिवनी अनुसंधान केंद्र से आना आएंगे। औषधि वाले पौधे बाह्रीय स्तरीय वृक्षारोपण योजना के तहत लगाए जाना है। उनके आसपास गांवों के जंगल कान्हा राष्ट्रीय उद्यान के कारीडोर से लगे होने की वजह से जंगलों में वन्यप्राणी अधिक पाए जाते है इससे वन्य प्राणियों के दर्शन भी होते है।इसी मकसद से आगामी जुलाई माह में एक नया जंगल तैयार करने के लिए वन विभाग औषधि वाले पौधे लगवा रहा है।जिसकी देखरेख करने का कार्य वन सुरक्षा समिति के सदस्यों द्वारा की जाएगी।

सुंदरवाही में 360 मकान

वन सुरक्षा समिति के सदस्यों ने बताया कि ग्राम सुंदरवाही में मकान 360 है।जिसमें सभी लोग वन सुरक्षा समिति के सदस्य होने से जंगल के पास खाली भूमि पर लगने वाले औषधि प्लांट की देखरेख करेंगे। बताया गया है कि पहले चरण में 18 हजार 750 पौधे लगने वाले है। इससे गड्ढे खोदने करीब एक दर्जन मजदूरों को रोजगार मिल रहा है। लेकिन इतने गड्ढे तैयार होने के बाद कुछ लोग इन गड्ढों को पुरने का कार्य कर रहे है।उन्होंने वन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों से ऐसे लोगों पर कार्रवाई करने की मांग की है।

इनका कहना

दमोह के बीट 1696 में औषधि वाले पौधे वन विभाग लगा रहा है। जिसकी देखरेख वन सुरक्षा समिति सुंदरवाही द्वारा की जाएगी। जहां पर औषधि वाले पौधे लगना है वहां पर कुछ लोगों द्वारा अतिक्रमण करने गड्ढों को पूरा यानी बंद किया जा रहा है।इसकी जानकारी हमारे द्वारा संबंधित को दे दी गई है।

शोभासिंह धुर्वे, अध्यक्ष, वन सुरक्षा समिति सुंदरवाही।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close