किरनापुर (नईदुनिया न्यूज)। आंधी तूफान आने से दो मकानों पर विशालकाय अर्जुन का पेड़ गिर गया। जिससे दोनों मकान क्षतिग्रस्त हो गए। लेकिन पंद्रह दिन बीतने के बाद भी पेड़ हटाया नहीं गया है।जिससे चलते दोनों मकान में रहने वाले स्वजनों की परेशानी बढ़ गई है। मामला तहसील मुख्यालय किरनापुर का है। इस संबंध में दोनों मकान के स्वजन ने बताया कि आंधी तूफान आने से दो मकानों के ऊपर अर्जुन का पेड़ गिर गया। इससे मकान सहित बाउंड्रीवाल क्षतिग्रस्त हो गई और नाली में मलमा जमा हो गया। इसकी जानकारी प्रशासनिक अधिकारियों को होने के बाद भी गिरे हुए पेड़ को अब तक नहीं हटाया जा सका है। जबकि प्री मानसून में दस्तक दे दिया है। ऐसे में बारिश होने पर पानी निकासी नहीं होने से जल भराव की स्थिति निर्मित हो जाएगी। इसका असर आसपास के मकानों पर भी पड़ेगा।वर्तमान में आवाजाही में परेशानी हो रही है। उन्होंने पेड़ हटवाकर नालियों की मरम्मत कराए जाने की मांग की है।

ग्रामीणों ने डिपो में बांस बल्ली व जलाऊ लकड़ी उपलब्ध कराने की मांग

किरनापुर।तहसील मुख्यालय के वन विभाग अंतर्गत संचालित डिपो में विगत कई माह से बांस, बल्ली और जलाऊ लकड़ी का अभाव बना होने से लोगों को बेहद ही परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।अब कुछ ही दिनों में बारिश का मौसम प्रारंभ होने वाला है। ऐसे में बेहद ही गरीब तबके के लोगों को अपने आशियानों की मरम्मत करना होता है। जिसके लिए बांस,बल्ली की जरूरत होती है,लेकिन बीते कई महा से डिपो में बांस उपलब्ध नहीं होने से जहां ऐसे गरीब वर्ग के लोगों के माथे पर अपने झोपड़ेनुमा आशियाने को लेकर चिंता की लकीरे सताने लगी है। इतना ही नहीं डिपो में जलाऊ लकड़ी नहीं होने से भी लोगों की परेशानियां बढ़ते जा रही है।ग्रामीणों ने बताया कि डिपो में लकड़ी नहीं होने से लोगों को यदि किसी की अंत्येष्टी करना हो तो उन्हें भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इसक साथ ही गरीबों को खाना बनाने जलाऊ लकड़ी नहीं मिल रही है।इन समस्त परेशानियों को देखते हुए ग्रामीणों ने तहसील मुख्यालय के स्थानीय डिपो में बांस व जलाऊ लकड़ी की व्यवस्था करवाए जाने की मांग जिला प्रशासन के उच्चाधिकारियों से की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close