बड़वानी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। इन दिनों नर्मदा नदी में सरदार सरोवर का बैक वाटर कम हो गया है। राजघाट से काफी नीचे उतरे पानी के कारण अब पुराने ऐतिहासिक घाट दिखने लगे हैं। बीच नर्मदा में बसे विरासतकालीन घाट पर नदी को पैदल पार कर लोग पहुंच रहे हैं। मध्य में नदी का पानी इतना कम हो गया है कि लोग पानी में से पैदल गुजर रहे हैं। घाट पर बने प्राचीन शिव मंदिर में पूजन के लिए श्रद्धालुओं का तांता लग गया है।

इस प्राचीन घाट और यहां के नजारे को देखने के लिए रोजाना सुबह-शाम लोगों का तांता लग रहा है। लोगों के अनुसार यह प्राचीन घाट अत्यंत रमणीय होने के साथ ही नर्मदा स्नान के लिए बेहतर स्थल है। यहां बीच नर्मदा में स्थित भगवान शिव के मंदिर में पूजा-अर्चना के लिए प्रतिदिन श्रद्धालु पहुंच रहे हैं।

शाम को नर्मदा आरती में भी बढ़ी भीड़

श्री दत्त मंदिर के पुजारी सचिन शुक्ला के अनुसार बैक वाटर पीछे जाने से पुराने घाट उभर आए हैं। शाम के समय यहां पर श्रद्धालु बड़ी संख्या में आकर नर्मदा स्नान का पुण्यलाभ लेने के साथ ही संध्या आरती में भी शामिल होते हैं। शाम को नर्मदा मैया की संध्या आरती में बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जुट रही है।

मध्य में दो हिस्सों में बंटी नदी

पुराने घाट तक बने प्राचीन पहुंच मार्ग के कारण यहां नदी दो हिस्सों में बंट गई है। वहीं बीच में तलहटी के मैदान भी उभर आए हैं। लोगों के अनुसार ऐसा नजारा इसके बाद फिर अगले साल गर्मी के दिनों में ही दिखाई देगा।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close