-इंदिरा गृह ज्योति योजना की जांच में सामने आई हकीकत

सेंधवा। नईदुनिया न्यूज

शहर में लोगों ने इंदिरा गृह ज्योति योजना के तहत श्रमिकों के नाम से कनेक्शन लेकर चार-चार कि राएदारों को उसमें से कनेक्शन दे दिए हैं। वहीं घरों में धड़ल्ले से एसी, गीजर, सबमर्सिबल पंप आदि चला रहे हैं। यह हकीकत बिजली कंपनी द्वारा कराई जा रही खपत और लोड की जांच के दौरान बुधवार को सामने आई है।

गौरतलब हो कि बिजली कंपनी ने इंदिरा गृह ज्योति योजना के तहत 150 यूनिट से अधिक बिजली की खपत करने वाले उपभोक्ताओं के घर बिजली की खपत और लोड की जांच शुरू कर दी है। इसी के तहत उक्त जानकारी मिल पाई। बिजली कंपनी के एई सतीश नामदेव ने बताया कि बुधवार को शहर की वैद्य कॉलोनी में दिलीप मालवे के घर एसी चलते पाया गया वहीं मोतिबाग में राके श राठौड़ के घर दो एचपी का सबमर्सिबल पंप लगा पाया गया है। नामदेव ने बताया कि जांच में शहर में 25 के करीब ऐसे उपभोक्ता मिले हैं, जिन्होंने योजना के तहत कनेक्शन लेकर चार-चार कि राएदारों को दे दिए हैं। ऐसे सभी उपभोक्ताओं को समझाइश दी जा रही है कि वे कि राएदारों के कनेक्शन अलग से लें। एई नामदेव ने बताया कि शहर में इंदिरा गांधी गृह ज्योति योजना के तहत 4545 उपभोक्ताओं को कनेक्शन दिए गए हैं। श्रमिक वर्गों के लिए बनाई गई इस योजना में बिजली कंपनी ने श्रमिकों की खपत 100 यूनिट तक की लिमिट रखी है। 150 से अधिक यूनिट वाले बिजली उपभोक्ताओं के घर कंपनी द्वारा भौतिक सत्यापन करवाया जा रहा है। इसके तहत पिछले तीन माह से 150 यूनिट से अधिक खपत करने वाले 600 से अधिक उपभोक्ताओं की जांच पहले की जा रही है। इसके बाद अन्य उपभोक्ताओं की जांच होगी।

संपन्न गरीब सामने आएंगे

गौरतलब है कि पिछली सरकार द्वारा शुरू की गई सरल योजना में धड़ल्ले से पंजीयन करवाए गए। चुनावी माहौल में बगैर जांच-पड़ताल के उपभोक्ताओं को फायदा दिया जाने लगा। सरकार बदलने के बाद इस योजना में बदलाव भी कर दिया गया, लेकि न हितग्राहियों की पात्रता की जांच नहीं की गई। यदि शहर में सभी 4545 उपभोक्ताओं की जांच की जाएगी तो कई संपन्न गरीब सामने आएंगे। शासन के नए निर्देश के अनुसार योजना के तहत 100 यूनिट तक 100 रुपए बिल आएगा। इससे ज्यादा खपत होने पर उपभोक्ताओं को निर्धारित यूनिट की दर से बिल चुकाना होगा। मई माह के बिल इसी के तहत वसूले जा रहे हैं।

19बीएआर-59--सेंधवा में बिजली कंपनी के कर्मी उपभोक्ताओं के घर-घर जाकर खपत और लोड की जांच कर रहे हैं।

19बीएआर-60--योजना के तहत कनेक्शन लेने वाले उपभोक्ता के घर मिला एसी।

Posted By: Nai Dunia News Network