बड़वानी। छोटे-बड़े वाहनों में वीआइपी नंबरों को लेकर लोगों में खासी रुझान रहता है। खासकर कई लोग कारों के लिए अपने लकी नंबर के लिए बड़ी राशियां खर्च करते है। वहीं कई लबी नंबर की गाडिय़ां महंगे दामों में भी बिकती है। हालांकि अब वाहन मालिक अपने पुराने चार पहिया वाहनों को आवंटित नंबर का उपयोग अपने नए वाहनों के लिए कर सकेंगे। इसके लिए वाहन मालिक के पुराने नंबर के लिए दी गई राशि या न्यूनतम 15 हजार रुपए में जो भी अधिक होगा, भुगतान करना होगा। उल्लेखनीय है कि वर्तमान व्यवस्था के अनुसार कंडम अथवा निष्प्रयोजित वाहन के स्क्रेप के साथ ही उसका नंबर भी ब्लाक कर दिया जाता था। इस व्यवस्था में वीआईपी नंबर लेने वाले वाहन मालिक को नया नंबर लेना पड़ता था। राज्य

शासन ने इस संबंध में नवीन व्यवस्था की है। मई 2014 के पूर्व प्रथम आओ, प्रथम पाओ के आधार पर वाहन क्रमांकआवंटित किए जाते थे। जिसमें एक से नौ नंबर का शुल्क 15 हजार, 10 से 100 का 12 हजार, विशिष्ट नंबरों के लिए 10 हजार और शेष नंबरों का शुल्क दो हजार रुपए था। इस अवधि के बाद वीआइपी नंबर के लिए ऑनलाइन नीलामी प्रक्रिया प्रारंभ की गई। हालांकि नीलामी प्रक्रिया के द्वारा मूल वाहन स्वामी के विशिष्ट नंबरों का काफी बड़ी राशि देकर क्रय किया जाता था। अब नई पालिसी में उनके या उनके परिवार वाला व्यक्ति उसी श्रेणी का वाहन खरीदने पर पूर्व वाहन के नंबर का उपयोग कर सकेगा।

बुखार आने पर स्वास्थ्य केंध में जांच करवाएं

बड़वानी। मच्छरों से फैलने वाली बीमारियों से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग ने आमजन से आह्वान किया हैं कि बचाव के नियमों का पालन करें। बुखार आने पर स्वास्थ्य केंद्र पहुंचकर जांच अवश्य कराए। वहीं मच्छरों की वृद्घि रोकने अपने घर व आस-पास पानी एकत्रित नहीं होने दें। पात्रों में भरा पानी सप्ताह में एक बार अवश्य खाली करें।

दिव्यांगों को बस में लगेगा आधा किराया

बड़वानी। मप्र राजपत्र दिनांक 24 नवंबर 2016 द्वारा प्रावधानित किया गया है कि सभी प्रकार की बस सेवाओं में विभिन्ना प्रकार के दिव्यांग

व्यक्तियों को सक्षम अधिकारी का प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने पर किराए में 50 फीसद की छूट दी जाएगी। दिव्यांगजन प्रमाण पत्र के लिए स्वयं या

संबंधित स्वयंसेवी संस्थाओं के माध्यम से परिवहन कार्यालयों में आवेदन देने पर प्रमाण पत्र जारी किया जाएगा। प्रमाण पत्र के आधार पर 50 फीसद किराए की छूट बस सेवाओं द्वारा दी जाएगी। भारत सरकार ने यूडीआईडी प्रोजेक्ट चलाया जा रहा है। इसके तहत कार्ड प्रदान किए जा रहे है। इससे

केंद्र व राज्य की योजनाओं के साथ दिव्यांगों के बस यात्रा में अब 50 प्रतिशत किराया छूट मिलेगी। वहीं इस नियम का उल्लंघन करने वाले बस

मालिकों पर नियमानुसार कार्रवाई होगी।

पानी की टंकियों में छोड़ी गंबूशिया मछली

बड़वानी। जिले में मच्छर रोधी कार्यक्रम सतत संचालित किया जा रहा है। इसके तहत मलेरिया विभाग का अमला स्वास्थ्य विभाग व महिला बाल विकास विभाग के सहयोग से ग्रामीण और नगरीय क्षेत्रों में लार्वा सर्वे अभियान चला रहा है। इस अभियान के तहत दल के सदस्य घर-घर पहुंचकर जहां लोगों को जागरूक कर रहे हैं। रविवार को आशा ग्राम चिकित्सालय परिसर में भी लार्वा सर्वे अभियान चलाकर पानी की टंकियों में गम्बूशिया मछली छोड़ी गई।

मनरेगा में फर्जी कार्य करने वाले रोजगार सहायक पर होगी एफआइआर

बड़वानी। जिला पंचायत सीईओ ऋतुराजसिंह ने जनपद पंचायत पानसेमल के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को ग्राम पंचायत धावड़ी के रोजगार सहायक गणेश पाटिल के विरुद्घ एफआईआर करने के निर्देश दिए है। जानकारी अनुसार लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी खंड के जांच दल ने ग्राम पंचायत धावड़ी में मनरेगा अंतर्गत कार्यों की जांच कर, प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया। प्रस्तुत प्रतिवदेन में यह उल्लेख किया गया कि ग्राम पंचायत धावड़ी में होने वाले मनरेगा के दो कार्य पोर्टल पर तो प्रगतिरत बताए गए, लेकिन इस कार्य स्थल पर भौतिक रूप से कार्य संपादित होना नहीं पाया गया। इस पर से जिपं सीईओ ने रोजगार सहायक गणेश पाटिल को फर्जी तरीके से मस्टर रोल भरना, मस्टर रोल पर मजदूरों के फर्जी हस्ताक्षर करना व बिना मूल्यांकन के राशि आहरण करने हेतु दोषी पाया गया। जिस पर से उन्होने रोजगार सहायक के विरुद्घ पानसेमल थाने में एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश वहां के सीईओ को दिए है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local