Barwani News: अंजड़। नगर में पहली बार तेंदुआ होने के प्रमाण मिले हैं। अंजड़ के छोटा बड़दा रोड के पास गगन पाटीदार के गन्ने के खेत में सूअर पकड़ने के लिए बाहरी क्षेत्र में लगाई रस्सी की जाली में तेंदुआ फंस गया। फसल को जंगली जानवरों से बचाने के लिए किसान ने जाल लगवाया था। इसमें एक वयस्क तेंदुआ फंस गया। इसकी सूचना ग्रामीणों ने तुरंत अंजड़ थाने और वन विभाग की टीम को दी।

तेंदुए को रेस्क्यू करने के लिए साधन उपलब्ध नहीं होने की वजह से वन विभाग ने इंदौर से रेस्क्यू टीम बुलाने का निर्णय लिया। इसकी सूचना अपने वरिष्ठ अधिकारियों को दी। सूचना मिलते ही बड़वानी डिप्टी रेंजर मुकीम खान, एसडीओ जेएस मुवेल रेंजर अपने दलबल को लेकर मौके पर पहुंच गए।

साथ ही बीट गार्ड अनिल चोंगणें सर्वप्रथम मौके पर पहुंच गए। वन विभाग का नागलवाड़ी में अनुभूति कार्यक्रम होने की वजह से टीम को घटनास्थल तक पहुंचने में अधिक समय लग गया। इसकी वजह से अंधेरा अधिक हो गया।

वहीं दूसरी ओर इंदौर से अंजड़ की लगभग 120 किलोमीटर दूर होने के कारण तेंदुए को सोमवार सुबह रेस्क्यू करने की बात कही गई। बीट गार्ड अनिल चौगणे ने बताया कि बड़वानी रेस्क्यू टीम को भी जानकारी दी गई है। ट्रैंकुलाइजेशन कर ही पकड़ने की बात कही गई। हालांकि रात को तेंदुआ जाल में से निकलकर भाग गया।

किसान गगन पुत्र श्यामू पाटीदार ने बताया कि उन्होंने उनके गन्ने के खेत में सूअर को पकड़ने के लिए जाल लगवाया था। इसमें दोपहर के समय तेंदुआ देखा गया। जो पास जाते ही गुर्राने लगा और जाल में बुरी तरीके से उलझ गया था। इसके बाद वन विभाग के जवाबदार अधिकारियों को इसकी सूचना दी गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close