बड़वानी(नईदुनिया प्रतिनिधि)।

कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष के चतुर्थी पर रविवार को करवा चौथ पर्व मनाया जाएगा। पर्व को लेकर बाजार में रौनक नजर आने लगी है। रणजीत चौक-झंडा चौक में अस्थाई दुकानों पर करवा पात्र, छलनी और साज-सज्जा की सामग्री की दुकानों पर महिलाएं खरीदी करते नजर आई। रविवार को सुहागिन महिलाएं व्रत रखेंगी।

उल्लेखनीय है कि करवा चौथ का व्रत सुहागिन महिलाओं के लिए सर्वाधिक महत्वपूर्ण माना जाता है। महिलाएं व्रत व पर्व को लेकर तैयारियों में जुट गई हैं। रविवार सुबह सूर्योदय से शाम को चांद निकलने तक महिलाएं निर्जला व्रत रखकर पति की दीर्घायु की कामना करेगी। साथ ही चतुर्थी माता व गणेश जी का पूजन.अर्चन होगा। वहीं शाम को चांद का दीदार कर अर्घ्य अर्पित करने के बाद पति के हाथ से पानी पीकर अपना व्रत तोड़ती हैं। हर साल कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी के दिन महिलाएं अपने पति की दीर्घायु के लिए निर्जला व्रत करती हैं। इस बार यह तिथि रविवार को पड़ रही है। माना जा रहा है कि करवा चौथ पर इस बार पांच साल बाद यह शुभ योग बन रहा है कि करवा चौथ के व्रत की पूजा रोहिणी नक्षत्र में की जाएगी। इसके अलावा रविवार को यह व्रत होने से भी इस सूर्यदेव का शुभ प्रभाव भी इस व्रत पर पड़ेगा।

रेत खदान की जांच करने पहुंचे अधिकारी

कसरावद। अवैध रेत खनन को लेकर नईदुनिया की खबर के बाद खनिज विभाग हरकत में आया। खनिज अधिकारी रीना पाठक ने शुक्रवार को देर शाम से बड़गांव स्थित बालू रेत खादान पर पहुंचकर जांच की। कार्रवाई में अवैध खनन पर क्या कार्रवाई की गई, यह जानकारी मीडिया को देने से वो बचती रही। खनिज विभाग की इस कार्यप्रणाली से कई सवाल खड़े हो रहे हैं। जब कोई जांच कार्रवाई की गई है तो उसकी जानकरी देने से क्यों बचा जा रहा है। इस संबंध में जब खनिज विभाग के आला अधिकरी व ठेकदार आरके गुप्ता से संपर्क करना चाहा तो उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया। उल्लेखनीय है कि अवैध रेत खनन को लेकर नईदुनिया ने प्रमुखता से समाचार प्रकाशित किया था।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local