LockDown in MP: सेंधवा (नईदुनिया न्यूज)। कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव को लेकर लॉकडाउन के निर्देशों और परेशानी के बीच शहर के निकट स्थित क्वारंटाइन सेंटर में छह बेटियों के बीच सात माह की गर्भवती परेशान हो रही है। गर्भवती और पति ने पीएम से गुहार लगाई है कि उन्हें उनके ट्रक से उनके गांव जाने दिया जाए। ट्रक में क्वारंटाइन के नियमों का पालन करेंगे। लॉकडाउन के बाद प्रशासन द्वारा महाराष्ट्र की ओर से आ रहे मजदूरों सहित अन्य काम करने वाले लोगों को शहर के निकट ग्राम जामली स्थित क्वारंटाइन सेंटर में ठहरया गया है। यहां महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले से छह बेटियों और गर्भवती पत्नी के साथ उप्र स्थित अपने गांव जा रहे ट्रक चालक को भी रोक कर उसे 4 अप्रैल को क्वारंटाइन सेंटर में ठहराया गया है।

ग्राम गोपालपुर थाना इकोना जिला श्रावस्ती (बहराइच) निवासी गोपाल पांडे सात माह की गर्भवती पत्नी रीता सहित छह बेटियों नंदिनी, माही, महक, अंशु, आंचल व श्रद्धा के साथ अपने ट्रक से गांव जा रहे थे। गोपाल ने बताया कि यहां कई लोगों को ठहराया गया है। ऐसे में वे छह बेटियों और गर्भवती पत्नी के स्वास्थ्य को लेकर परेशान हैं। उन्होंने कहा कि उन्हें जाने दिया जाए, ताकि बेटियों व पत्नी को उचित पारिवारिक सुरक्षा मिल सके।

गौरतलब हो कि यहां महाराष्ट्र के विभिन्न् शहरों से आए 200 से अधिक लोगों को ठहरया गया है। मामले में एसडीएम घनश्याम धनगर ने बताया कि लॉकडाउन में शासन के निर्देशों के तहत दूसरे प्रांत के लोगों को ठहराया गया है। उन्हें सभी सुविधाएं दी जा रही है। कि सी को छोड़ा नहीं जा सकता है।

Posted By: Prashant Pandey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना